योग से राजस्थान में ग्राम पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा : Sonowal

केन्द्रीय आयुष और बंदरगाह, पोत परिवहन और जलमार्ग मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने सोमवार को कहा कि योग से राजस्थान में ‘ग्राम पर्यटन’ को बढ़ावा मिलेगा।
वह अंतरराष्ट्रीय योग दिवस (21 जून) से पचास दिन पूर्व मंगलवार (दो मई) को जयपुर के श्री भवानी निकेतन शिक्षा समिति खेल मैदान में आयोजित किए जा रहे योग महोत्सव की तैयारियों की समीक्षा करने आए थे।
केन्द्रीय आयुष मंत्रालय के तहत कार्यरत स्वायत्त संस्था मोरारजी देसाई राष्ट्रीय योग संस्थान ने जयपुर स्थित राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान,राजस्थान सरकार, स्थानीय अधिकारियों और योग से जुडे स्थानीय संस्थानों के सक्रिय सहयोग से इस महोत्सव का आयोजन किया है।
सोनोवाल ने आयोजन स्थल पर संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि राजस्थान में योग के माध्यम से चिकित्सकीय यात्रा को निश्चित रूप से बढ़ावा मिलेगा।
उन्होंने कहा कि आज योग के जरिये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दुनिया को जोड़ा है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि नौवें योग दिवस का आयोजन देश के साथ-साथ दुनिया भर में सफलतापूर्वक किया जाएगा।
उन्होंने कहा कि ‘‘हमारी पुरानी पहचान, हिंदुस्तान की असली ताकत, पांच हजार वर्ष पुरानी सभ्यता, संस्कृति और आध्यात्मिक पंपराओं के मूल्यों को आज दुनिया ने स्वीकार किया है। देश में ही नहीं यूरोप, अमेरिका तक योग की लोकप्रियता लगातार बढ़ रही है।’’
उन्होंने कहा कि पिछली बार अंतरराष्ट्रीय योग दिवस में कुल 193 देश शामिल हुये और इस बार यह संख्या और बढ़ने की उम्मीद है।
सोनोवाल ने कहा कि हम चाहते है कि दुनिया का हर व्यक्ति योग को अपनाये, प्रतिदिन अभ्यासकरे ताकि निरोगी रहे और अपने जीवन में खुशी हासिल करे।
राजस्थान में योग महोत्सव का आयोजन करने के निर्णय के बारे में सोनोवाल ने कहा कि हर साल हजारों विदेशी पर्यटक यहां आते हैं और योग तथा योग चिकित्सा सीखने के लिये कई योग संस्थानों की सेवाएं लेते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘मैं इन योग संस्थानों के लिये चिकित्सीय यात्रा के लिहाज से अपार संभवानाएं देखता हूं।’’
उन्होंने कहा,‘‘भारत सरकार ‘ग्राम पर्यटन’ को बढ़ावा दे रही है और योग राजस्थान में ग्रामीण पर्यटन को बढ़ावा देने में अहम भूमिका निभा सकता है।’’
गौरतलब है कि योग महोत्सव में राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र, केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत सहित कई केंद्रीय मंत्री, राज्य के सांसद और आयुष मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी हिस्सा लेंगे।