क्या और बढ़ने वाली है राहुल गांधी की मुश्किलें, दिल्ली HC ने रेप पीड़िता की पहचान उजागर करने वाले मामले में NCPCR से मांगा जवाब

कांग्रेस पार्टी अपने नेता राहुल गांधी को सूरत की एक अदालत द्वारा कल दो साल कैद की सजा सुनाए जाने के बाद उनके बचाव की रणनीति बनाने में व्यस्त हैं। वहीं एक और मामले की छाया उन पर मंडरा रही है। दिल्ली उच्च न्यायालय ने 2021 में एक बलात्कार और हत्या पीड़िता के रिश्तेदारों की पहचान का खुलासा करने वाले ट्वीट के संबंध में राहुल गांधी के खिलाफ दायर याचिका पर एनसीपीसीआर से जवाब मांगा है। इसे भी पढ़ें: ‘क्या राहुल गांधी और कांग्रेस का अहंकार देश के कानून से बड़ा है?’, भाजपा का नया हमलाक्या है पूरा मामलाकांग्रेस सांसद राहुल गांधी और ट्विटर के खिलाफ जयपुर की सेशन कोर्ट में एक आपराधिक मुकदमा दर्ज कराया गया था। यह मुकदमा भाजपा नेता जितेंद्र गोठवाल ने दर्ज कराया था। भाजपा नेता शिकायत में नौ वर्षीय पीड़िता की पहचान उजागर करने का आरोप लगाया गया। इसे भी पढ़ें: Rahul Gandhi convicted | कांग्रेस ने राहुल की सजा पर की चर्चा, राष्ट्रपति मुर्मू से मिलने के लिए जन आंदोलन की बनाई योजनाराहुल ने किया था तस्वीर पोस्टबता दें कि दिल्ली के कैंट एरिया में इस बच्ची की हत्या के बाद परिवार पर दबाव डालकर उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया था। बच्ची अपने माता-पिता के साथ श्मशान घाट के सामने किराए के मकान में रहती थी एक अगस्त की शाम करीब साढ़े पांच बजे वह श्मशान घाट के कूलर से पानी लेने गई थी। आरोप है कि इसी दौरान श्मशान घाट के पुजारी राधेश्याम और दो-तीन अन्य लोगों ने इस घटना को अंजाम दिया। बाद में उसकी मां को बुलाकर बताया कि करंट लगने से बच्ची की मौत हो गई है। आरोप है कि उसकी हत्या से पहले उसके साथ रेप भी किया गया था। राहुल गांधी ने गांव में जाकर पीड़िता परिवार से मुलाकात की थी। राहुल ने मुलाकात की तस्वीर भी ट्विटर पर पोस्ट कर दी थी।