बारिश होगी या चलेगी लू, दिल्‍ली के मौसम के बारे में क्‍या है क्‍लू? IMD का ताजा अपडेट पढ़ लीजिए

नई दिल्‍ली: राजधानी दिल्‍ली के कई इलाकों में शुक्रवार को हल्की बूंदाबांदी हुई। देश के कई और हिस्‍सों में भी ऐसा ही देखने को मिला। इसने मौसम को सुहावना बना दिया। लोगों को गर्मी से थोड़ी राहत मिली। कुछ जगहों पर धूल भरी तेज हवाएं भी चलीं। दिल्ली में अधिकतम तापमान 34.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। यह सामान्य से पांच डिग्री सेल्सियस कम था। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने शनिवार को आसमान में आमतौर पर बादल छाए रहने का अनुमान जताया है। साथ ही एक या दो जगहों पर गरज के साथ हल्की बारिश होने की संभावना जाहिर की है। दिल्ली के कुछ हिस्सों में गुरुवार को भी हल्की बारिश हुई थी। धूल भरी तेज हवाएं भी चली थीं। अधिकतम तापमान 36.9 डिग्री सेल्सियस रहा था। क्‍या कहता है IMD का ताजा अपडेट? आईएमडी का कहना है कि अगले दो से तीन दिनों तक राजधानी में इसी तरह की स्थिति बने रहने की उम्मीद है। 30 मई तक लू का अनुमान नहीं है। विभाग ने शनिवार को अधिकतम तापमान 37 डिग्री रहने की बात कही है। न्‍यूनतम तापमान 22 डिग्री सेल्सियस के आसपास रह सकता है। मौसम विभाग ने बताया है कि पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र में सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ के कारण अगले एक-दो दिन राष्ट्रीय राजधानी और इसके आसपास के क्षेत्रों सहित उत्तर-पश्चिम भारत में रुक-रुककर बारिश होने का अनुमान है। सोमवार और मंगलवार को राजधानी के कई हिस्सों में लू चली थी। कई मौसम केंद्रों ने अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस से ऊपर दर्ज किया था।लू के चलते बढ़ी थी ब‍िजली की मांग अधिकारियों ने कहा था कि लू के चलते मंगलवार को दिल्ली में बिजली की मांग बढ़कर 6,916 मेगावाट हो गई थी। यह इस मौसम में अब तक सबसे अधिक थी। पिछली गर्मियों में शहर में बिजली की मांग 7,695 मेगावाट दर्ज की गई थी। इस साल यह 8,100 मेगावाट तक पहुंच सकती है।दिल्ली का समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) शुक्रवार को 98 दर्ज किया गया। यह ‘संतोषजनक’ श्रेणी में आता है। शून्य से 50 के बीच एक्यूआई ‘अच्छा’, 51 से 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 से 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 से 300 के बीच ‘खराब’, 301 से 400 के बीच ‘बेहद खराब’ और 401 से 500 के बीच ‘गंभीर’ माना जाता है।