जब खुद फूड डिलीवरी करने पहुंचे जोमैटो के करोड़पति CEO दीपिंदर गोयल

नई दिल्ली: काम कोई भी छोटा या बड़ा नहीं होता है। ये बात (Zomato) के सीईओ ( Deepinder Goyal) ने साबित कर दी। नए साल के दौरान जब जोमैटो (Zomato) पर फूड ऑर्डर्स की बाढ़ आ रही थी तो कमान खुद कंपनी के सीईओ दीपिंदर गोयल ने संभाल ली। 31 दिसंबर को जोमैटो कंपनी के सीईओ दीपिंदर गोयल खुद फूड डिलीवरी करने पहुंचे और उन्होंने इसकी जानकारी खुद ट्वीट करके दी।

31 दिसंबर के दिन जब लोग पार्टी और जश्न मना रहे थे तो काम में व्यस्त जोमैटो के सीईओ डिलीवरी ब्वॉय का जैकेट पहने खाने की डिलीवरी करने डोर टू डोर खाने का ऑर्डर लेकर पहुंच रहे थे। उन्होंने अपने इस एक्सपीरियंस के बारे में ट्विटर पर लिखा भी है। काम से एक घंटे का ब्रेक लेकर वो फूड डिलीवरी करने पहुंच गए। उन्होंने डिलीवरी ब्वॉय वाली डैकेट पहनी, हाथ में खाने का ऑर्डर लिया और डिलीवरी करने पहुंच गए। पहला ऑर्डर उन्हें गुरुग्राम स्थित जोमैटो के ऑफिस का ही मिला। इसके बाद उन्होंने 4 और डिलीवरी की। जिसमें एक फूड ऑर्डर एक बुजुर्ग दंपत्ति का था, जो अपने पोता-पोती के साथ न्यू ईयर मना रहे थे। इससे पहले उन्होंने जोमैटो के ऑफिस की कुछ झलकियां दिखाई, जिसमें ऑर्डर की डिलीवरी को लेकर तैयारियां की जा रही थी।

बनाया नया रिकॉर्ड

फूड डिलीवरी ऐप जोमैटो ने नए साल पर फूड डिलीवरी का नया रिकॉर्ड बना लिया। कंपनी ने 31 दिसंबर को 20 लाख से अधिक ऑर्डर की डिलीवरी की। कंपनी के सीईओ ने 31 दिसंबर के ऑर्डर को लेकर लिखा कि आज जितने ऑर्डर हमने डिलीवर किए गए वो फूड डिलीवरी सर्विस के पहले 3 सालों के कुल ऑर्डर के बराबर है। जहां कंपनी ने एक रिकॉर्ड बनाया तो वहीं दूसरी ओर जोमैटो (Zomato) में एक और बड़े इस्तीफे की खबर सामने आई है।कंपनी के को-फाउंडर मोहित गुप्ता के बाद जोमैटो के को-फाउंडर और चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर गुंजन पाटीदार (Gunjan Patidar) ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। कंपनी की ओर से शेयर बाजार को इसकी सूचना दी गई है।