दफनाने के 6 दिन बाद ‘मृतक’ लौटा घर तो उड़े सबके होश, पढ़ें हैरान कर देनेवाली वारदात

कोच्चि: केरल में एक हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है। यहां पर एक ‘मृत व्यक्ति’ जीवित पाया गया। अब पुलिस के लिए यह पता करना सिर दर्द बन गया है कि किसे मंजोथोड, पठानमथिट्टा की आदिवासी कॉलोनी में दफनाया गया था। पुलिस ने कहा कि शव, जिसे शुरू में आदिवासी कॉलोनी के निवासी 70 वर्षीय रमन बाबू का माना जा रहा था, को 31 दिसंबर को दफनाया गया था। रमन बाबू घर लौट आए हैं। अब शव को खोदकर उसकी पहचान की जाएगी कि दफनाया जाने वाला शख्स कौन था।वन अधिकारियों ने कहा कि लाह के पास वन क्षेत्र में 30 दिसंबर को एक हाथी ने व्यक्ति पर घातक हमला किया। यह शख्स मारा गया था। उसका चेहरा बुरी तरह खराब हो गया था।ऐसे नजर आया रमनपुलिस ने कहा कि रमन के बच्चों ने शव की पहचान की। उसे रमन साबित किया। उसके बाद रमन को घर के आवासीय परिसर में दफनाया गया। हालांकि, शनिवार की सुबह कोक्काथोड वन स्टेशन के अनुभाग वन अधिकारी ए कृष्णकुट्टी और आदिवासी पर्यवेक्षक मनु ने एक नियमित यात्रा पर कोक्काथोड में रमन जैसा दिखने वाले एक व्यक्ति को देखा। रमन के एक रिश्तेदार मनु ने सबसे पहले उसकी पहचान की पुष्टि की।रमन की ऐसे हुई पहचानबेटी और बेटों ने पहचान की पुष्टि की। लाहा में रहने वाली रमन की सबसे बड़ी बेटी को तब बुलाया गया और उसने सत्यापित किया कि वह उसके पिता थे। बाद में, उनके दो बेटों ने भी उनकी पहचान की पुष्टि की।कौन था मरने वाला शख्स?पुलिस ने कहा कि रमन को भटकने और जंगल की खोज करने की आदत थी। अब, पुलिस को गलती से दफन किए गए व्यक्ति की पहचान निर्धारित करने का चुनौतीपूर्ण कार्य करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि दबे हुए शव को बाहर निकालना होगा।