भारत से चले जहाज में आई दिक्कत तो मदद के लिए पहुंची पाकिस्तानी नेवी, अरब सागर में 9 भारतीयों को बचाया

इस्लामाबाद: भारतीय नौसेना की ओर से हिंद महासागर में जहाजों को लुटेरों से बचाने की खबरें आती रही हैं। हाल के दिनों में भारत ने पाकिस्तान के मछुआरों से जुड़ी नावों को ऑपरेशन के जरिए बचाया है। अब पाकिस्तान की नौसेना ने भी कुछ-कुछ ऐसा ही किया है। उन्होंने किसी जहाज को समुद्री लुटेरों से तो नहीं बचाया है, लेकिन समुद्र में फंसे 9 भारतीय नाविकों की जान बचाई। पाकिस्तान नेवी ने पाकिस्तान की मारीटाइम सिक्योरिटी एजेंसी के साथ मिलकर एक ऑपरेशन चलाया। इसमें ओशन टग एसएएस-5 के चालक दल को बचाया गया।पाकिस्तानी नौसेना ने सोमवार को एक बयान में कहा कि यह चिंताजनक स्थिति तब सामने आई जब सेंट किट्स एंड नेविस में रजिस्टर्ड ओशन टग के विद्युत जनरेटर में खराबी आ गई। कराची से लगभग 167 समुद्री मील दक्षिण-पूर्व में भारतीय तट के पास यह खराबी देखी गई। जहाज 1 फरवरी को महाराष्ट्र के से यूएई के शारजाह के लिए रवाना हुआ था। बिजली की खराबी के कारण कई दिनों तक निष्क्रिय रहा। बयान में कहा गया कि 4 फरवरी की सुबह पाकिस्तान नेवी की जॉइंट मारीटाइम इन्फॉर्मेशन और कोऑर्डिनेशन सेंटर को संकट का सिग्नल मिला।क्या किया पाकिस्तान नेवी नेरिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान नेवी ने इसके बाद खोज और बचाव अभियान शुरू किया। पाकिस्तानी नेवी के लंबी दूरी के समुद्री गश्ती जहाज को इसका पता लगाने का काम सौंपा गया। इसके बाद पाकिस्तान ने अपने जहाज PMSS कश्मीर को खोज और बचाव मिशन के लिए तैनात किया। टग एसएएस-5 तक पहुंचने पर जहाज को सुरक्षित कर लिया गया। तीन घंटे मरम्मत करने के बाद विद्युत जनरेटर की खाराबी को ठीक कर लिया गया। इसके अलावा पाकिस्तान ने चालक दल को मेडिकल, ताजा पानी और पका हुआ भोजन दिया।जहाज फिर हुआ रवानाबचाव अभियान पूरा होने के बाद ओशन टग एसएएस-5 ने फिर शारजाह के लिए अपनी यात्रा शुरू कर दी। पाकिस्तानी नेवी ने बयान में कहा कि टग के बचाए गए चालक दल ने उनकी प्रशंसा की। इसके अलावा समुद्र में एक चुनौतीपूर्ण स्थिति के दौरान दी गई सहायता के लिए आभार जताया। नेवी ने बयान में कहा, ‘यह सफल अभियान क्षेत्र में नाविकों की सुरक्षा और भलाई सुनिश्चित करने, समुद्री आपात स्थिति में भी सद्भावना और सहयोग को बढ़ावा देने के लिए पाकिस्तान की प्रतिबद्धता का उदाहरण है।’