रोहित-विराट जो नहीं कर सके यशस्वी ने वो कर दिखाया, सचिन के बड़े रिकॉर्ड की बराबरी

विशाखापत्तनम: विशाखापत्तनम दूसरे टेस्ट में टॉस जीतकर बैटिंग करने उतरी टीम इंडिया एक छोर से विकेट गंवाती रही तो दूसरे छोर पर ने रनों की सुनामी लाते हुए दिन का खेल खत्म होने तक नाबाद 179 रन ठोके। यह उनका टेस्ट करियर का दूसरा टेस्ट है और उन्होंने 257 गेंदों में 17 चौके और 5 छक्के उड़ाए। उनकी पारी ही थी, जिसके दम पर टीम इंडिया ने स्टंप्स तक 6 विकेट पर 336 रन बनाते हुए खुद को मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया है। उनके साथ दूसरे छोर पर रविचंद्रन अश्विन 5 रन बनाकर मौजूद हैं।यशस्वी जायसवाल ने सचिन का रिकॉर्ड बराबर कियाइस तरह उन्होंने युवा बाएं हाथ के बल्लेबाज यशस्वी जायसवाल ने कर दिखाया जो महान विराट कोहली और मौजूदा कप्तान रोहित शर्मा नहीं कर सके। जी हां, आपने सही पढ़ा। यशस्वी जायसवाल ने 22 साल की उम्र में घर यानी भारत और विदेश दोनों जगह टेस्ट खेलते हुए शतक जड़े हैं। वह 23 साल की उम्र से पहले करने वाले भारत के सिर्फ चौथे बल्लेबाज हैं। उनसे पहले महान सचिन तेंदुलकर, पूर्व कोच और कॉमेंटेटर रवि शास्त्री, सचिन के दोस्त विनोद कांबली ही ऐसा करने में कामयाब हुए थे। रोचक बात यह है कि ये सभी मुंबई रणजी टीम का हिस्सा रहे हैं।23 की उम्र से पहले भारत और विदेश में टेस्ट शतक जड़ने वाले भारतीय बल्लेबाजरवि शास्त्रीसचिन तेंदुलकरविनोद कांबलीयशस्वी जायसवालयशस्वी जायसवाल के टेस्ट करियर का सर्वश्रेष्ठ स्कोरयशस्वी जायसवाल ने अपने करियर का आगाज वेस्टइंडीज के खिलाफ किया था। उन्होंने डेब्यू मैच में 171 रनों की पारी खेली थी, जबकि आज अपने बेस्ट स्कोर को वह पीछे छोड़ चुके हैं। भारतीय टर्निंग विकेट के बड़े बल्लेबाज माने जाने वाले कप्तान रोहित शर्मा, शुभमन गिल और श्रेयस अय्यर जल्दी आउट हुए तो इस युवा होनहार ने इंग्लिश टीम के धुरंधर गेंदबाजों का सीना तानकर सामना किया।