पीएम मोदी से हाथ मिलाकर पवार ने ऐसा क्या कहा कि उद्धव नाराज हो गए, जानिए इनसाइड स्टोरी

मुंबई : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को लोकमान्य तिलक राष्ट्रीय पुरस्कार समारोह में जिस तरह नरेंद्र मोदी और शरद पवार ने हंसी-ठिठोली की, वह शिवसेना (यूटीजी) प्रमुख को रास नहीं आई। उद्धव ठाकरे अब अपने गठबंधन के सूत्रधार रहे शरद पवार से नाराज बताए जा रहे हैं। बताया जाता है कि शरद पवार जिस तरह नरेंद्र मोदी का मंच पर इंतजार करते रहे, वह उद्धव को नागवार गुजरी है। पीएम मोदी की बात सुनकर सुशील शिंदे भी मुस्कुरा उठेपुणे में मंगलवार को प्रधानमंत्री को लोकमान्य तिलक राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया। समारोह में महाराष्ट्र के सीएम एकनाथ शिंदे और दोनों उपमुख्यमंत्रियों के अलावा एनसीपी नेता शरद पवार मौजूद थे। तिलक की प्रतिमा में माल्यार्पण के बाद प्रधानमंत्री मोदी मंच पर मौजूद अतिथियों से मिले। जब वह शरद पवार के पास पहुंचे तो दोनों ने एक-दूसरे से हाथ मिलाया। तब दोनों के बीच बातचीत भी हुए। मुस्कुराहट के साथ शरद पवार ने मोदी का पीठ भी थपथपाया। इसके बाद पीएम मोदी ने कुछ ऐसा कहा कि वहां मौजूद सुशील कुमार शिंदे भी मुस्कुरा उठे। महाराष्ट्र में सियासी फेरबदल के बाद यह पहला मौका था, जब पीएम मोदी और शरद पवार एक साथ मंच साझा कर रहे थे। कार्यक्रम में दीपक तिलक ने प्रधानमंत्री को लोकमान्य तिलक द्वारा लिखी गई भगवतगीता का गुजराती भाषा में अनुवादित कॉपी भेंट की। विपक्ष की अपील की शरद पवार ने की अनदेखीप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और शरद पवार की मुलाकात पर लोगों की नजरें टिकीं थीं। शिवसेना सांसद संजय राउत समेत कई दलों ने शरद पवार से इस कार्यक्रम में शामिल नहीं होने की अपील की थी। इसके अलावा टीम इंडिया के नेताओं ने पवार को दूर रहने की सलाह दी थी, फिर भी वह नरेंद्र मोदी को सम्मानित करने वाले कार्यक्रम में गए। एनसीपी में अजित पवार के बगावत के बाद यह पहला अवसर था, जब दोनों एक मंच पर पहुंचे थे। इस सम्मान समारोह में शरद पवार मुख्य अतिथि थे। मंगलवार को शरद पवार अन्य अतिथियों के आने से पहले कार्यक्रम में सबसे पहले पहुंचे। मंच पर नरेंद्र मोदी और शरद पवार एक साथ नहीं बैठे। उनके बीच तिलक स्मारक मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष दीपक तिलक मौजूद रहे। बागी हो चुके भतीजे अजित पवार भी उनसे काफी दूर रहे। वहां सार्वजनिक तौर से चाचा-भतीजे ने बातचीत नहीं की। इससे पहले पुणे पहुंचने पर सीएम एकनाथ शिंदे के साथ दोनों उपमुख्यमंत्रियों ने प्रधानमंत्री का स्वागत किया। लोकमान्य तिलक स्मारक मंदिर ट्रस्ट के कार्यक्रम में शामिल होने से पहले पीएम मोदी ने श्रीमंत दगडूशेठ हलवाई मंदिर में पूजा-अर्चना भी की।