West Bengal: केंद्र सरकार के खिलाफ धरने पर बैठी ममता बनर्जी, भाजपा का पलटवार

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी 100 दिनों के काम सहित कई योजनाओं के लिए फंड नहीं देने पर केंद्र सरकार के खिलाफ आज से कोलकाता में दो दिवसीय धरने पर बैठी हैं। मुख्यमंत्री, मध्य कोलकाता में स्थित रेड रोड पर डॉ बी आर आंबेडकर की एक प्रतिमा के सामने धरना दे रही हैं। ममता ने आरोप लगाया था कि केंद्र सरकार ने मनरेगा और इंदिरा आवास योजना (ग्रामीण) के लिए धन जारी करना बंद कर दिया है। इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा था कि केंद्र ने ओबीसी छात्रों के लिए छात्रवृत्ति भी बंद कर दी है। उन्होंने साफ तौर पर कहा था कि हमारा मानना ​​है कि इसका कारण ईर्ष्या या राजनीति हो सकती है। इसे भी पढ़ें: National anthem ‘insult’ case: अदातल ने ममता बनर्जी को राहत देने से किया इनकारवहीं, ममता के इस घरणा पर भाजपा ने पलटवार किया है। पश्चिम बंगाल के भाजपा विधायक अग्निमित्रा पॉल ने कहा कि ममता बनर्जी झूठी हैं। उन्होंने कहा कि टीएमसी सरकार ने केंद्र सरकार का पैसा लूटा है। इन्होंने जनता का पैसा लूटा है। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि गरीबों के लिए भेजा गया पैसा लूट लिया गया। उसका हिसाब दो। आप उसके लिए हिसाब नहीं देते बल्कि पैसे मांगते हैं। ऐसा नहीं किया जा सकता। किसी अन्य गैर-भाजपा शासित राज्य को कोई समस्या नहीं है। पश्चिम बंगाल में नेता प्रतिपक्ष सुवेंदु अधिकारी ने कहा कि सीएम ममता झूठ बोल रही हैं और लोगों को गुमराह कर रही हैं। इसे भी पढ़ें: सुवेंदु अधिकारी का ममता बनर्जी पर निशाना, बोले- घुसपैठियों को अंदर लाकर बंगाल को बनाया राष्ट्र विरोधी गतिविधियों का हबभाजपा नेता ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा भेदभाव का आरोप लगाते हुए दावा कर रही है कि केंद्र द्वारा एकत्र किया गया कर राज्य में वापस नहीं आता है और उसने जीएसटी का समर्थन करके गलती की है। सच तो यह है कि सेंट्रल फंडिंग हमेशा पश्चिम बंगाल के अपने रेवेन्यू से ज्यादा रही है। इसके साथ ही उन्होंने एक कागज भी साझा किया है। आपको बता दें कि 2024 चुनाव तो लेकर राजनीति जबरदस्त तरीके से जारी है। इसके अलावा राहुल गांधी को लोकसभा से अयोग्य करार दिए जाने को लेकर भी विपक्ष मोदी सरकार पर हमलावर है।