वाह रे यूपी पुलिस! थाने में आपस में भिड़े पुलिसकर्मी, जमकर चले लात-घूंसे, 6 सस्पेंड

मुकेश पाण्डेय, मिर्जापुर: उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर जिले में संतनगर थाने में पुलिसकर्मियों के बीच में मारपीट का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। वीडियो वायरल होने के बाद एसपी ने दो पुलिसकर्मी को बर्खास्त कर दिया है। इसके साथ ही 6 सिपाहियों को निलंबित कर दिया है। पीएसी के एक सिपाही की बर्खास्तगी को लेकर पत्र लिखा गया है। मारपीट का वीडियो वायरल होने के बाद एसपी स्वयं थाने पर पहुंचे थे। जहां पर जांच की थी जांच के बाद एसपी ने कार्यवाई की है। इतनी बड़ी कार्यवाई के पूरे महकमे में हड़कंप मचा हुआ है।थाना में मारपीट का वीडियो हुआ था वायरलमिर्जापुर जिले के संत नगर थाने का एक वीडियो बुधवार को सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। वायरल वीडियो में कुछ सिपाही आपस में गुत्थम- गुत्था व लड़ाई- झगड़ा करते हुए दिखाई दे रहे हैं। वीडियो में सिपाही जमकर गाली-गलौज भी कर रहे थे। थाना परिसर का वीडियो वायरल होने के बाद एसपी ने इसकी जांच सीओ लालगंज को दी। सीओ लालगंज की जांच के बाद एसपी संतोष कुमार मिश्र स्वयं थाने पर पहुंचे, जहां पर उन्होंने जांच की। जांच के बाद एसपी ने बड़ी कार्यवाई की है। एसपी ने हेड कांस्टेबल नामवर यादव व धर्मेंद्र सिंह को बर्खास्त कर दिया है। इसके साथ ही पीएसी के मुख्य आरक्षी देव प्रकाश पांडेय की बर्खास्तगी के लिए पत्र लिखा है। 22 अपैल का है वीडियो, छह हुए निलबिंतदो को बर्खास्त करने के साथ ही एसपी ने थाने पर तैनात उपनिरीक्षक मनोज उपाध्याय, मुख्य आरक्षी उपेंद्र सिंह, मुख्य आरक्षी करन सिंह यादव, आरक्षी विमलेश सिंह, आरक्षी लखन रावत, आरक्षी नागेंद्र कुमार यादव को निलंबित कर दिया गया है। सीओ दीक्षांत ने बताया कि सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो की जांच में पता चला कि यह 22 अप्रैल की रात की घटना है। एक सिपाही नशे में धुत होकर गाली गलौज कर रहा था, जिसके बाद मारपीट शुरू हुई थी। अनुशासनहीनता नहीं की जाएगी बर्दाश्त-एसपीएसपी संतोष कुमार मिश्रा ने कहा कि सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो की जांच कराई गई थी। वीडियो सही पाए जाने पर कार्यवाई की गई है। सभी पुलिसकर्मियों को सख्त निर्देश दिया गया है कि अनुशासनहीनता बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इसमें से एक सिपाही नामवर यादव है जो कि पहले शराब पीकर उलझा था, जिसके बाद गाली-गलौज और मारपीट शुरू हुई। नामवर यादव पूर्व के जिले में भी रिकॉर्ड अच्छा नहीं रहा है, वहां भी उसे दंड मिला हुआ है। इसमें एक सिपाही ने वीडियो बनाकर वायरल किया था। सभी के ऊपर कार्यवाई की गई है। सरकारी काम में अनुशासनहीनता बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।