वर्ल्ड कप के बाद 18 में से 14 मैच छोड़ गए विराट कोहली, क्या धीरे-धीरे ढलान की ओर बढ़ रहा करियर?

चेन्नई: इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज शुरू होने में सिर्फ चंद दिन ही बाकी थे तभी विराट कोहली ने अचानक हैदराबाद में टीम इंडिया का साथ छोड़ दिया। पता लगा कि वह व्यक्तिगत कारणों के चलते शुरुआती दो टेस्ट के लिए घोषित टीम का हिस्सा नहीं होंगे। फिलहाल सीरीज 1-1 से बराबरी पर जरूर है, लेकिन टीम इंडिया के पूर्व कप्तान के बारे में कोई अपडेट नहीं है। मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो वह सीरीज में बचे तीन मुकाबलों में भी नहीं खेलेंगे। सवाल सिर्फ मौजूदा सीरीज का ही नहीं है बल्कि 19 नवंबर 2023 को वनडे वर्ल्ड कप फाइनल के बाद से विराट कोहली का रवैया ऐसा ही बना हुआ है। बीते चार महीने में टीम इंडिया ने तीनों फॉर्मेट मिलाकर कुल 18 मैच खेले हैं, जिसमें विराट ने सिर्फ चार मुकाबलों में ही शिरकत की है।18 में से चार मैच ही खेलेवनडे वर्ल्ड कप के बाद ठीक बाद भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पांच मैच की टी-20 सीरीज खेली। इसके बाद साउथ अफ्रीका का दौरा हुआ, वहां तीन मैच की टी-20 सीरीज, तीन मैच की वनडे सीरीज और दो मैच की टेस्ट सीरीज हुई। इसके बाद घर पर अफगानिस्तान के खिलाफ टी-20 सीरीज खेली गई और अब इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैच की टेस्ट सीरीज जारी है। इनमें विराट कोहली ने साउथ अफ्रीका दौरे पर दोनों टेस्ट मैच के अलावा अफगानिस्तान के खिलाफ आखिरी दो टी-20 ही खेले। यानी पिछले चार महीने में हुए विराट ने 18 में से चार इंटरनेशनल मैच ही खेले हैं। ढलान की ओर बढ़ रहा करियर?2022 में हुए टी-20 वर्ल्ड कप के बाद से विराट कोहली ने खेल का सबसे छोटा फॉर्मेट खेलना बंद कर दिया था, लेकिन ये टी-20 वर्ल्ड कप ईयर है, ऐसे में अब वह टी-20 इंटरनेशनल खेल रहे हैं। वह भारत के लिए ऑल फॉर्मेट प्लेयर तो बने रहना चाहते हैं, लेकिन अपने मनमाफिक सीरीज में ही भाग लेते हैं। फिलहाल वह व्यक्तिगत कारणों के चलते ब्रेक पर चल रहे हैं। कहा जा रहा है कि उनकी पत्नी अनुष्का शर्मा प्रेगनेंट हैं इसलिए वह लंदन में हैं। अगर विराट सोचते हैं कि सिर्फ आईपीएल खेलकर वह टी-20 वर्ल्ड कप की तैयारियां पूरी कर लेंगे तो ये उनकी गलतफहमी है।विराट का न होना टीम के लिए झटकादूसरी ओर इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन का मानना है कि विराट कोहली जैसे खिलाड़ी का आगामी टेस्ट मैच में नहीं खेलना सिर्फ भारतीय टीम ही नहीं बल्कि सीरीज और विश्व क्रिकेट के लिए झटका है। हुसैन ने हालांकि भारतीय क्रिकेटर के व्यक्तिगत जिंदगी को प्राथमिकता देने का समर्थन किया। कोहली की उपलब्धियों और क्रिकेट में योगदान की प्रशंसा करते हुए इंग्लैंड के पूर्व कप्तान ने कहा कि उन जैसा खिलाड़ी 15 साल तक खेल की सेवा करने के बाद अपने परिवार के साथ समय बिताने का हकदार है। हुसैन ने यह भी कहा कि कोहली की जगह लेना मुश्किल है, लेकिन उन्हें केएल राहुल का प्लेइंग इलेवन में शामिल होने की उम्मीद है जो दर्द के कारण दूसरे टेस्ट में नहीं खेल पाए थे।