वेंकैया नायडू, वैजयंतीमाला, मिथुन चक्रवर्ती सहित 132 को पद्म पुरस्कार देने की घोषणा

पूर्व उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू, अभिनेत्री वैजयंतीमाला बाली, अभिनेता कोनिडेला चिरंजीवी, सुलभ इंटरनेशनल के संस्थापक दिवंगत बिंदेश्वर पाठक, उच्चतम न्यायालय की पहली महिला न्यायाधीश दिवंगत एम. फातिमा बीवी और ‘बॉम्बे समाचार’ के मालिक होर्मुसजी एन. कामा सहित 132 प्रतिष्ठित शख्सियतों को पद्म पुरस्कार से सम्मानित किए जाने की बृहस्पतिवार को घोषणा की गई।
एक आधिकारिक बयान के अनुसार, 75वें गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती, ताइवान की कंपनी फॉक्सकॉन के अध्यक्ष यंग लियू, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता राम नाइक, दिवंगत अभिनेता विजयकांत, गायिका उषा उत्थुप और परोपकारी किरण नादर को भी प्रतिष्ठित नागरिक पुरस्कारों से सम्मानित करने की घोषणा की गई।
  सरकार ने मंगलवार को पहले ही घोषणा कर दी थी कि वह बिहार के दो बार मुख्यमंत्री रहे कर्पूरी ठाकुर को मरणोपरांत देश के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार भारत रत्न से सम्मानित करेगी।
पद्म पुरस्कार पाने वालों में 34 गुमनाम नायक हैं, जिनमें भारत की पहली महिला हाथी महावत पार्वती बरुआ, आदिवासी पर्यावरणविद चामी मुर्मू, मिजोरम का सबसे बड़ा अनाथालय चलाने वाले सामाजिक कार्यकर्ता संगथंकिमा और प्लास्टिक सर्जन प्रेमा धनराज शामिल हैं।
जिन पांच प्रतिष्ठित व्यक्तियों को देश के दूसरे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्म विभूषण से सम्मानित किया जा रहा है उनमें नायडू, बाली, चिरंजीवी, पाठक और भरत नाट्यम नृत्यांगना पद्मा सुब्रमण्यम शामिल हैं।
बीवी, कामा, चक्रवर्ती, यंग, विजयकांत, उत्थुप, नाइक, गुजराती अखबार ‘जन्मभूमि’ के समूह संपादक और सीईओ कुंदन व्यास, अभिनेता और निर्देशक दत्तात्रय अंबादास मयालू, पूर्व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री सी.पी. ठाकुर और भाजपा नेता ओलानचेरी राजगोपाल सहित 17 प्रमुख व्यक्तियों को पद्म भूषण से सम्मानित किए जाने की घोषणा की गई।
  टेनिस खिलाड़ी रोहन बोपन्ना, नादर, हॉकी खिलाड़ी हरबिंदर सिंह, पेशेवर स्क्वैश खिलाड़ी जोशना चिनप्पा, पापुआ न्यू गिनी की संसद के लिए चुने गए भारतीय मूल के पहले व्यक्ति ससींद्रन मुथुवेल और बैंकर कल्पना मोरपारिया उन 110 हस्तियों में शामिल हैं जिन्हें पद्मश्री से सम्मानित किया गया है।
बांग्लादेश की रवीन्द्र संगीत प्रतिपादक रेजवाना चौधरी बान्या, सौ साल की फ्रांसीसी योग शिक्षिका चार्लोट चोपिन, गायक सुरेंद्र मोहन मिश्रा को पद्मश्री दिया गया है।
बयान में कहा गया, पद्म विभूषण असाधारण और विशिष्ट सेवा के लिए दिया जाता है; पद्म भूषण उच्च कोटि की विशिष्ट सेवा के लिए और पद्म श्री किसी भी क्षेत्र में विशिष्ट सेवा के लिए दिया जाता है। पुरस्कारों की घोषणा हर साल गणतंत्र दिवस के अवसर पर की जाती है।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में, कहा, उन सभी को बधाई जिन्हें पद्म पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। भारत विभिन्न क्षेत्रों में उनके योगदान को महत्व देता है। वे अपने असाधारण कार्यों से लोगों को प्रेरित करते रहें।
गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने पद्म पुरस्कार समारोह को तर्कसंगत बनाया है ताकि इसे सामाजिक परिवर्तन के लिए अग्रणी उदाहरण स्थापित करने वाले व्यक्तियों की सराहना करने का एक मंच बनाया जा सके।