लोकसभा चुनाव: भाजपा नेताओं को सौंपी गई विभिन्न जिम्मेदारियां

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष जे पी नड्डा ने आगामी लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी के राष्ट्रीय महासचिवों को महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां सौंपी हैं। इसके मुताबिक विनोद तावड़े विभिन्न दलों के नेताओं के पार्टी में शामिल होने की कवायद की देखरेख करेंगे जबकि राधामोहन दास अग्रवाल दृष्टिपत्र तैयार करने की अगुवाई करेंगे। सूत्रों ने बुधवार को यह जानकारी दी।
उन्होंने बताया कि महासचिव सुनील बंसल प्रचार और प्रसार अभियान सेसंबंधित विभिन्न पहलुओं की देखरेख करेंगे।
कैलाश विजयवर्गीय, बंडी संजय कुमार और तरुण चुघ सहित अन्य महासचिवों की जिम्मेदारी केन्द्रीय मंत्रियों सहित पार्टी के वरिष्ठ नेताओं और राज्य इकाइयों के साथ समन्वय करना होगा ताकि लोकसभा अभियान के विभिन्न पहलुओं को आकार दिया जा सके।
भाजपा अक्सर विभिन्न दलों के प्रभावशाली नेताओं को अपने खेमे में शामिल होने के लिए लुभाती रही है, खासकर चुनावों के दौरान। हालांकि कभी-कभी इससे पुराने लोगों में नाराज़गी भी पैदा हो जाती है। लिहाजा, एक सुचारू प्रक्रिया सुनिश्चित करने के लिए इस बार पार्टी ने एक समिति के गठन का फैसला किया है।
नड्डा ने मंगलवार को केंद्रीय मंत्रियों भूपेंद्र यादव, धर्मेंद्र प्रधान और अश्विनी वैष्णव सहित पार्टी महासचिवों और वरिष्ठ नेताओं की एक बैठक की अध्यक्षता की थी, जिसमें उन्होंने 22 जनवरी को राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह की योजनाओं पर विचार-विमर्श किया।
भाजपा ने इससे पहले अपनी सभी राज्य इकाइयों से मंदिरों और उनके आसपास की स्वच्छता सुनिश्चित करने के लिए 14 जनवरी से एक अभियान शुरू करने और लोगों को अपने पड़ोस के मंदिरों में प्रार्थना करके 22 जनवरी के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए कहा था। सूत्रों ने बताया कि प्राण प्रतिष्ठा के बाद पार्टी की ओर से यह सुनिश्चित किया जाएगा कि दर्शन के लिए देश-विदेश के विभिन्न हिस्सों से अयोध्या आने वाले लोगों को किसी असुविधा का सामना नहीं करना पड़े। एक सूत्र ने बताया कि इसके लिए पार्टी के प्रदेश नेताओं को जिम्मेदारियां दी जाएंगी।