UP: बिना अनुमति धरना-प्रदर्शन के 27 वर्ष पुराने मामले में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय राय दोषमुक्त

वाराणसी की एक स्थानीय विशेष अदालत ने उत्तर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अजय राय को
करीब 27 वर्ष पहले जारी निषेधाज्ञा का उल्लंघन कर धरना-प्रदर्शन करने के मामले में शनिवार को बरी कर दिया।
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राय के अधिवक्ता अनुज यादव ने बताया कि अजय राय पर 27 वर्ष पूर्व बिना अनुमति धरना प्रदर्शन कर आवागमन बाधित करने और धारा 144 (निषेधाज्ञा) के उल्लंघन का आरोप था।
उन्होंने बताया कि वाराणसी की सांसद-विधायक अदालत (सांसद-विधायक अदालत) ने शनिवार को कांग्रेस की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष अजय राय के खिलाफ दर्ज मामले में फैसला सुनाया।
अदालत के अपर सिविल जज (सीनियर डिवीजन प्रथम)उज्जवल उपाध्याय ने इस मामले में पूर्व मंत्री अजय राय को बरी कर दिया।
अनुज यादव ने बताया कि वर्ष 1996 में अजय राय पर अपने समर्थकों को साथ लेकर निषेधाज्ञा का उल्लंघन करते हुए धरना-प्रदर्शन कर कानून व्यवस्था को भी प्रभावित करने का मामला दर्ज हुआ था, जिसमें राय पर लगे आरोप सिद्ध नहीं हुए।