चाचा-भतीजे आए साथ, यूपी में बढ़ाएंगे योगी सरकार की टेंशन, तस्वीरों से समझ लीजिए

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की मुख्य विपक्षी पार्टी समाजवादी पार्टी बजट सत्र के दौरान पूरे रंग में है। अखिलेश यादव () को चाचा शिवपाल यादव () का साथ मिल गया है। इसके बाद से अखिलेश ऐक्शन में आ गए हैं। पहले तो शिवपाल नेता विपक्ष अखिलेश की अनुपस्थिति में सपा विधायक दल की बैठक का नेतृत्व करते दिखाई दिए। आज सदन के बाहर और अंदर प्रदर्शन के दौरान शिवपाल ने अगुवाई की तो अखिलेश भी वेल में पहुंचकर योगी सरकार (Yogi Government) के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। लखनऊ विधानसभा में सपा विधायकों ने जमकर हंगामा किया। सदन की शुरुआत से पहले सपा के विधायकों ने हंगामा किया। और फिर राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान जमकर नारेबाजी हुई। गो बै-गो बैक के नारे के बीच गवर्नर भी असहज दिखीं। आज सोमवार से ही शुरू हुआ है विधानसभा का बजट सत्र। हंगामे की वजह से स्पीकर सतीश महाना भी नाराज नजर आए। अखिलेश खुद वेल में मौजूद होकर नारेबाजी की अगुवाई करते दिखाई पड़े। वहीं सीएम योगी आदित्यनाथ ने विपक्ष को नसीहत देते हुए कहा कि विधानमंडल का सत्र शुरू होने वाला है। राज्यपाल के अभिभाषण के साथ शुरुआत होगी। सभी विधायक अपने इलाके के मुद्दे रखेंगे। सरकार हर मुद्दे पर चर्चा करेगी और जबाव देने को भी तैयार है। 25 करोड़ जनता के लिए बजट पेश होगा। मुझे उम्मीद है कि विपक्ष भी सार्थक तरीके से सदन की कार्यवाही को आगे बढ़ाने में सहयोग करेगा। शांति और शालीनता के साथ अपनी बात रखनी चाहिए। सत्र के दौरान समाजवादी पार्टी सरकार को विभिन्न मुद्दों पर घेरेगी। शिवपाल यादव की अध्यक्षता में हुई विधायक दल की बैठक में तय किया गया कि विधानसभा में जनता के मुद्दों को जोर-शोर से उठाया जाएगा। शिवपाल की अगुवाई में सपा के विधायक विधानसभा के बाहर हाथों में तख्ती लेकर धरने पर बैठ गए। भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती है। मार्शलों के साथ नोंकझोंक भी हुई है। समाजवादी पार्टी के कार्यालय में 7 साल बाद शिवपाल यादव पहुंचे। वर्ष 2016 में अखिलेश यादव से मनमुटाव बढ़ने के बाद से वे सपा दफ्तर नहीं गए थे। वर्ष 2017 में उन्होंने अपनी अलग पार्टी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी बना ली। मंच पर अखिलेश और शिवपाल की तकरार साफ दिखी थी। अखिलेश से मुलायम के सामने ही शिवपाल ने माइक छीन ली थी। इस दौरान दोनों के बीच धक्का-मुक्की की स्थिति आ गई। बाद में किसी प्रकार की स्थिति को संभाला गया।