अपने सपनों में देखते हैं मुझे, Eknath Shinde पर Uddhav Thackeray ने कसा तंज

मुंबई । शिवसेना (यूबीटी) के प्रमुख उद्धव ठाकरे ने रविवार को कहा कि पार्टी का नाम और चुनाव चिह्न ‘‘चुराए जाने’’ के बावजूद उनके आलोचक उन्हें अपने सपनों में देखते हैं और वे जानते हैं कि महाराष्ट्र की जनता उनके साथ है। पूर्व मुख्यमंत्री ठाकरे बांद्रा स्थित अपने आवास ‘मातोश्री’ में समर्थकों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा, ‘‘मेरी पार्टी का नाम और चुनाव चिह्न चुराए जाने के बावजूद, आलोचक मुझे अपने सपनों में देखते हैं। वे जानते हैं कि उद्धव ठाकरे अकेला नहीं है, पूरा महाराष्ट्र उसके साथ है।’’  इसे भी पढ़ें: Mewaram Jain के खिलाफ Congress का बड़ा एक्शन, प्राथमिक सदस्यता से किया निलंबित, अश्लील वीडियो वायरल होने के बाद उठाया गया कदमठाकरे ने कहा, ‘‘प्यार और स्नेह बिक्री के लिए नहीं हैं। इन भावनाओं को खरीदा नहीं जा सकता।’’ मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के गढ़ ठाणे जिले के उल्हासनगर में कुछ राजनीतिक कार्यकर्ताओं के फिर से शिवसेना (यूबीटी) में शामिल होने का जिक्र करते हुए, ठाकरे ने कहा कि आगे भी लड़ाई जारी रहेगी लेकिन वफादार लोगों के एक साथ रहने से इसे जीता जा सकता है।  इसे भी पढ़ें: Kartavyapath: Surat के इंटरनेशनल एयरपोर्ट के जरिए दुनिया आएगी नजदीक अयोध्या में 22 जनवरी को राम मंदिर के उद्घाटन के बारे में ठाकरे ने कहा कि उस दिन वह नासिक के कालाराम मंदिर में पूजा करेंगे और गोदावरी नदी के तट पर ‘महा आरती’ करेंगे। शिंदे और कई विधायकों की बगावत के बाद जून, 2022 में शिवसेना विभाजित हो गई थी और राज्य में सत्तारूढ़ ठाकरे के नेतृत्व वाली महाविकास आघाडी (एमवीए) सरकार गिर गई थी। निर्वाचन आयोग द्वारा शिंदे के संगठन को ‘शिवसेना’ नाम और चुनाव चिह्न ‘तीर धनुष’ दिया गया था।