दो चश्मे, फाइबर शीट… यूट्यूब पर गंदा खेल करने वाली ‘कुंवारी बेगम’ के पास क्या-क्या मिला? जानिए एक-एक डिटेल

नई दिल्ली: नवजात बच्चों के खिलाफ यौन शोषण के लिए उकसाने वाली शिखा मैत्रेय उर्फ कुंवारी बेगम पर कानून का शिकंजा कस चुका है। यूपी की गाजियाबाद पुलिस ने शिखा को गुरुवार को उसके घर से गिरफ्तार कर लिया। शिखा देश के टॉप संस्थानों में शामिल नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन डिजाइनिंग (एनआईएफटी) से पास आउट है।

दिल्ली की नामी डिजिटल मार्केटिंग कंपनी में एग्जीक्यूटिव के तौर पर काम करने वाली शिखा के खिलाफ पुलिस ने उस वक्त एक्शन लिया, जब सोशल एक्टिविस्ट दीपिका नारायण ने इस मामले में शिकायत दर्ज कराई। गिरफ्त में आने के बाद शिखा को लेकर कई अहम खुलासे हुए हैं।

पुलिस पूछताछ में शिखा मैत्रेय ने बताया कि उसने कुछ साल पहले ही कुंवारी बेगम नाम से ये यूट्यूब चैनल शुरू किया था। अपने चैनल पर वो आपत्तिजनक और अश्लील वीडियो बनाकर अपलोड करती थी। इसमें महिलाओं के प्रति यौन शोषण के लिए उकसाने वाले वीडियो भी शामिल थे। यूट्यूब पर उसके 2050 सब्सक्राइबर थे और यहां उसने कुल 115 वीडियो अपलोड किए।

इंस्टाग्राम पर भी उसने इसी नाम से अपना अकाउंट बना रखा था। जब हाल ही में उसने नवजात बच्चों के खिलाफ यौन शोषण के लिए उकसाने वाला वीडियो डाला, तो सोशल मीडिया पर लोगों ने उसकी गिरफ्तारी की मांग उठाई।क्यों अपलोड किया नवजात बच्चों वाला वीडियो?शिखा मैत्रेय से पुलिस लगातार पूछताछ कर रही है।

उसने बताया कि यूट्यूबर पर उसके फॉलोवर्स कम थे और इन्हें बढ़ाने के मकसद से ही उसने नवजात बच्चों के साथ यौन शोषण वाला वीडियो बनाकर अपलोड किया। शिखा की गिरफ्तारी से पहले तक उसके इस वीडियो 22 लाख से ज्यादा लोग देख चुके थे।

हालांकि, जैसे ही इस वीडियो पर सोशल एक्टिविस्ट दीपिका नारायण की नजर पड़ी, उन्होंने तुरंत कौशांबी पुलिस थाने में उसके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। अब गिरफ्तारी के बाद शिखा गुहार लगा रही है कि उसे माफ कर दिया जाए। वो फिर कभी ऐसा काम नहीं करेगी।पुलिस ने शिखा पर कौन-कौन सी धाराएं लगाईं? यूट्यूब के जरिए अश्लीलता फैलाने और नवजात बच्चों के खिलाफ यौन शोषण के लिए उकसाने वाली शिखा मैत्रेय उर्फ कुंवारी बेगम के ऊपर संगीन धाराओं में केस दर्ज किया गया है।

पुलिस ने उसके ऊपर पोक्सो एक्ट, आईपीसी और आईटी एक्ट की धाराएं लगाई हैं। वहीं, एनसीपीसीआर ने भी इस मामले में नोटिस जारी कर दिया है। दिल्ली हाईकोर्ट में आपराधिक मामलों के वकील सतवीर यादव के मुताबिक, अगर शिखा मैत्रेय इस मामले में दोषी साबित होती है, तो उसे करीब सात साल की सजा हो सकती है।

गाजियाबाद के कौशांबी थाने की पुलिस के मुताबिक, शिखा मैत्रेय की गिरफ्तारी के साथ ही उसके घर से कुछ चीजें भी बरामद की गई हैं। इनमें दो काले चश्मे (जिन्हें पहनकर वो वीडियो बनाता थी), एक फाइबर शीट, 1 मॉनिटर, 1 सीपीयू , 1 कीबोर्ड , 1 माउस और उसका मोबाइल शामिल है। इन सभी चीजों को फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा जाएगा। इसके बाद इनकी रिपोर्ट कोर्ट में पेश होगी।