सीने में दर्द की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती हुए तुलसी पीठाधीश्वर जगद्गुरू रामभद्राचार्य महाराज

आगरा। तुलसी पीठाधीश्वर जगद्गुरू रामभद्राचार्य महाराज को शुक्रवार सुबह सीने में दर्द की शिकायत के बाद आगरा के पुष्पांजलि अस्पताल में भर्ती कराया गया। अस्पताल के अधिकारी ने यह जानकारी दी। फिलहाल उन्हें वायुमार्ग से देहरादून ले जाने की तैयारी की जा रही है। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रामभद्राचार्य के उत्तराधिकारी को फोन करके उनका हालचाल जाना। जगद्गुरु की तबीयत बिगड़ने की सूचना मिलने पर बड़ी संख्या में उनके अनुयायी हॉस्पिटल पहुंच रहे हैं। यहां दिल्ली गेट स्थित पुष्पांजलि अस्पताल के चिकित्सा अधिकारी डॉ. राकेश शर्मा ने बताया कि सीने में दर्द की शिकायत के बाद उन्हें यहां लाया गया, उनकी जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि डॉ. नवनीत शर्मा उनका इलाज कर रहे हैं, कुछ जांच हो चुकी हैं जबकि कुछ जांचों की रिपोर्ट आनी बाकी है। उन्होंने कहा कि शुरूआत जांच में छाती में संक्रमण की बात सामने आई है। सूत्रों के मुताबिक, रामभद्राचार्य महाराज की चार साल पहले हृदय बाईपास सर्जरी हो चुकी है, ऐसे में डॉक्टर हर तरह की जांच कर रहे हैं। पुष्पांजलि अस्पताल के संचालक डॉ. वी.डी. अग्रवाल ने बताया कि रामभद्राचार्य महाराज को वायुमार्ग से देहरादून ले जाने की तैयारी की जा रही है। अग्रवाल ने बताया कि हालांकि अभी खतरे की कोई बात नहीं है लेकिन उनके शिष्य उन्हें देहरादून ले जाना चाहते हैं, इसकी तैयारी शुरू कर दी गयी है। अग्रवाल ने बताया कि देहरादून में उनके किसी अनुयायी का अस्पताल है। उल्लेखनीय है कि रामभद्राचार्य महाराज की हाथरस के गांव लाढ़पुर में रामकथा जारी है, विगत 25 जनवरी से शुरू हुई इस कथा का शुक्रवार को आखिरी दिन है। अब वह रामकथा में शामिल नहीं हो पाएंगे।