ताड़ी ही तो पी ली है चोरी तो नहीं की है, सोशल पर पोस्ट वीडियो की क्या है सच्चाई

त्रिशूर: एक महिला को ताड़ी पीते हुए सोशल मीडिया पर वीडियो पोस्ट करना भारी पड़ गया। महिला को गिरफ्तार कर लिया गया है। महिला ने दुकान पर ताड़ी पीते हुए अपना वीडियो पोस्ट किया था। आबकारी अधिकारियों ने यह आरोप लगाते हुए महिला को गिरफ्तार किया कि उसने मादक पदार्थों के सेवन को प्रोत्साहित करने का काम किया है। हालांकि जब पुलिस की तफ्तीश में सच्चाई सामने आई तो लोग चौंक गए। पता चला कि महिला सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय रहती है और उसके लाखों फॉलोअर्स हैं। सोशल मीडिया पर दुकान में ताड़ी पीते हुए वीडियो पोस्ट करने वाली एक महिला की शिकाय केरल मद्यनिषेध परिषद के कार्यकर्ताओं ने की थी। जिसके बाद शिकायत के आधार पर आबकारी टीम ने महिला को गिरफ्तार किया कर लिया। हालांकि जांच के बाद आबकारी अधिकारियों ने पाया कि महिला ने असल में ताड़ी का सेवन नहीं किया था। इसके इतर महिला ने सोशल मीडिया पर पोस्ट करने के लिए वीडियो शूट किया था।अधिकारियों ने कहा कि महिला सोशल मीडिया पर बहुत सक्रिय रहती है और इंस्टाग्राम पर उसके एक मिलियन से अधिक फॉलोअर्स हैं। आबकारी अधिकारियों ने महिला के खिलाफ आबकारी एक्ट की धारा 55 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। बाद में महिला को जमानत पर रिहा कर दिया गया। निषेध परिषद के राज्य सचिव जोसेफ ईए, जिन्होंने शिकायत दर्ज की थी। उनका कहना था कि उनकी शिकायत ताड़ी की दुकान के खिलाफ थी। क्योंकि वीडियो व्यावहारिक रूप से दुकान का विज्ञापन बन रहा था। दरअसल कानून के मुताबिक शराब या ताड़ी की दुकानें कोई विज्ञापन नहीं दे सकती हैं।