हटाने के लिए हमारी लाश से गुजरना होगा…चीन समर्थक मुइज्जू के समर्थन में कौन खुलकर उतर गया?

मालदीव की चीन समर्थक सरकार के खिलाफ वहां के विपक्ष ने मोर्चा खोल दिया है। वहां की सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी मालदीवियन डेमोक्रेटिक पार्टी (एमडीपी) ने राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू पर मुकदमा चलाने की पूरी तैयारी कर ली है, जिसे लेकर अब गठबंधन पार्टी के नेता सामने आ गए हैं। गठबंधन में शामिल प्रोग्रेसिव पार्टी ऑफ मालदीव (पीपीएम) और पीपुल्स नेशनल कांग्रेस (पीएनसी) ने कहा है कि वे राष्ट्रपति मुइज्जू को हटाने के प्रयासों को संसद के माध्यम से आगे नहीं बढ़ने देंगे। विपक्षी एमडीपी के पास संसद में बहुमत है और सोमवार को रिपोर्टें सामने आईं कि पार्टी ने महाभियोग के लिए अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए पर्याप्त सांसदों के हस्ताक्षर एकत्र कर लिए हैं।इसे भी पढ़ें: Maldives में मुइज्जू के खिलाफ तख्तापलट शुरू! क्यों आई राष्ट्रपति के सामने ऐसी नौबत?मुइज्जू को हटाने की सभी कोशिशें रोक दी जाएंगीसंवाददाता सम्मेलन में पीपीएम संसदीय दल के नेता और आइदाफुशी क्षेत्र के सांसद अहमद सलीम ने कहा कि गठबंधन राष्ट्रपति मुइज्जू को पद से हटाने के एमडीपी के सभी प्रयासों को रोक देगा। मालदीव की स्थानीय मीडिया में छपी रिपोर्ट के मुताबिक अहमद सलीम ने कहा कि हम उन्हें ऐसा करने का कोई मौका नहीं देंगे। राष्ट्रपति को पद से हटाने के बारे में सोचने से पहले उन्हें हमारे शवों से गुजरना होगा। मालदीव की गठबंधन सरकार ने दावा किया है कि भले ही एमडीपी के पास संसद में बहुमत है, लेकिन वे राष्ट्रपति के खिलाफ महाभियोग की प्रक्रिया को आगे नहीं बढ़ने देंगे। राष्ट्रपति मुइज्जू के खिलाफ महाभियोग की खबर से ठीक एक दिन पहले रविवार को मालदीव की संसद में हिंसा देखी गई. सत्ता पक्ष और विपक्ष के सांसद आपस में भिड़ गए और संसद अखाड़ा बन गई। मालदीव की संसद में हिंसा तब शुरू हुई जब एमडीपी ने मुइज्जू कैबिनेट के चार सांसदों की संसदीय मंजूरी रोकने का फैसला किया। एमडीपी ने चार सांसदों की संसदीय मंजूरी के लिए वोटिंग की प्रक्रिया शुरू नहीं होने दी, जिसके चलते दोनों पार्टियों के सांसद आपस में भिड़ गए।इसे भी पढ़ें: Maldives में मुइज्जू OUT की तैयारी शुरू, मुख्य विपक्षी एमडीपी संसदीय समूह महाभियोग लाने पर हुआ सहमतएमडीपी के पास महाभियोग के लिए पर्याप्त हस्ताक्षर हैंमालदीव के अखबार सन.कॉम ने एक एमडीपी सांसद के हवाले से कहा कि एमडीपी ने अपने साथी डेमोक्रेट्स के साथ मिलकर महाभियोग प्रक्रिया शुरू करने के लिए पर्याप्त हस्ताक्षर एकत्र कर लिए हैं। हालाँकि, उन्होंने अभी तक इसे संसद में पेश नहीं किया है। मडीपी के संसदीय दल की बैठक हुई जिसमें मुइज्जू के खिलाफ महाभियोग लाने पर सहमति बनी। पिछले साल सितंबर में हुए चुनाव में 45 साल के मुइज्जू ने भारत के प्रति दोस्ताना रवैया रखने वाले इब्राहिम मोहम्मद सोलिह को हराया था।