चीन को करारा जवाब देने के लिए भारत ने LAC पर बनाया ये प्लान, अब ड्रैगन को याद आएगी ‘नानी’!

नई दिल्ली: चीन को LAC पर जवाब देने के लिए भारतीय सेना नई रणनीति पर काम कर रही है। इसके तहत LAC पर सेना की IBG यानी इंटिग्रेटेड बैटल ग्रुप की तैनाती होगी। इस ग्रुप में सेना की अलग-अलग फील्ड के माहिर जवान होंगे। इनमें पैदल सैनिक, टैंक, तोप, इंजिनियर्स, लॉजिस्टिक, सपोर्ट यूनिट सहित वे सभी सैनिक होंगे, जो किसी जंग के लिए जरूरी हैं। सेना के ये समूह ज्यादा घातक होंगे। इन्हें एक्सरसाइज के जरिए ज्यादा ऊंचाई वाली चोटियों में जंग में माहिर बनाया गया है।

भारतीय सेना की दो कोर कर रही एक्सरसाइज

अभी भारतीय सेना की दो कोर – 9वीं और 17वीं तीन साल से IBG पर एक्सरसाइज कर रही हैं। पिछले साल ही ऐसे इंटिग्रेटेड बैटल ग्रुप का वैलिडेशन हो चुका है। वैलिडेशन का मतलब है कि कई एक्सरसाइज के जरिए परखा गया है कि ये बैटल ग्रुप कैसे ज्यादा असरदार होंगे। इसके बाद ही इन्हें मान्यता दी गई है। अब IBG बनाने के लिए सरकार के आदेश का इंतजार है। आदेश मिलने के एक महीने के अंदर सेना LAC पर अपनी इस नई रणनीति पर काम शुरू कर देगी।

सबसे पहले अरुणाचल में किया गया परीक्षण

ऐसे इंटिग्रेटेड बैटल ग्रुप का परीक्षण सबसे पहले अरुणाचल प्रदेश में ही किया गया है। साल 2019 में भारतीय सेना ने अरुणाचल में 15 हजार फीट की ऊंचाई पर ‘हिम विजय’ नाम से इसका अभ्यास किया। इस दौरान चोटियों पर परखा गया कि भारतीय सेना किस तरह नई रणनीति से दुश्मन का मुकाबला करेगी। इसमें देखा गया कि 15 हजार फीट की ऊंचाई और कठिन भौगोलिक परिस्थितियों में सेना जल्द से जल्द कैसे एक से दूसरी जगह पहुंचेगी, कैसे कम्युनिकेशन होगा और कैसे कोऑर्डिनेशन होगा। यह इंटिग्रेटेड बैटल ग्रुप (IBG) का पहला टेस्ट था। अभी सेना की एक कोर के तहत डिविजन और फिर डिविजन के नीचे ब्रिगेड होती है। लेकिन IBG में कोर से सीधे ब्रिगेड को निर्देश मिलेंगे। इस नई युद्ध रणनीति में बीच की लेयर नहीं है। इससे फैसले लेने और उन्हें लागू करने में तेजी आएगी। आईबीजी की अगुआई मेजर जनरल करेंगे। सेना की 9वीं और 17वीं कोर ने कई अभ्यास के जरिए IBG में महारत हासिल की है। इनमें 17वीं कोर माउंटेन स्ट्राइक कोर है।

अरुणाचल में LAC पर है अभी छोटा रूप

अरुणाचल प्रदेश में LAC पर भारतीय सेना की इंटीग्रेटेड डिफेंस लोकेशन (IDL) हैं। यह काफी कुछ IBG की तरह ही हैं। इसे आईबीजी का छोटा रूप मान सकते हैं। इंटिग्रेटेड होने से यह दुश्मन के लिए ज्यादा घातक होती हैं। इंटिग्रेटेड डिफेंस बैटल सेना की बस एक कंपनी या बटैलियन नहीं लड़ती है। यह साझा लड़ाई है, जिसमें सेना की सभी फील्ड और सर्विसेज हिस्सा लेती हैं। इसमें पैदल सैनिकों के साथ इंजिनियर्स, आर्टिलरी, एयर डिफेंस, आर्मी एविएशन, उनके अटैक हेलिकॉप्टर और इंडियन एयरफोर्स के एयरक्राफ्ट भी शामिल हैं।