तुर्की से खतरा, फिर भी भारत को मिराज फाइटर जेट देना चाहता है दोस्त ग्रीस, यह फायदे का सौदा कैसे

एथेंस: पाकिस्‍तानी दोस्‍त तुर्की के बढ़ते खतरे के बाद भी ग्रीस ने दोस्‍त भारत को बड़ा ऑफर दिया है। ग्रीस ने कहा है कि वह अपने रिटायर हो चुके 18 मिराज 2000 व‍िमानों को बेचने के लिए खरीददार खोज रहा है। इन विमानों को ग्रीस ने साल 2022 में रिटायर किया था और अब ग्रीस इन विमानों को भारत को बेचना चाहता है। ग्रीस और भारतीय अधिकारियों के बीच में इस सौदे को लेकर बातचीत चल रही है। रिटायर होने से पहले ग्रीस की वायुसेना इन्‍हें ऑपरेट करती थी और उसके लिए एथेंस के पास तांग्ररा एयर बेस बनाया गया था। ग्रीस ने 1980 के दशक में फ्रांस से इन मिराज 2000 विमानों को खरीदा था। ग्रीस ने राफेल फाइटर जेट के आने के बाद मिराज 2000 विमानों को साल 2022 में रिटायर कर दिया था। भारत ने इन विमानों की खरीद का प्रस्‍ताव दिया था ताकि वह अपने 44 मिराज 2000 विमानों के बेड़े को उड़ने में सक्षम बनाए रखे। विश्‍लेषकों का कहना है कि ग्रीस के मिराज विमान उड़ने लायक तो नहीं हैं लेकिन उनके कलपुर्जे भारतीय वायुसेना के लिए बहुत कारगर साबित हो सकते हैं। भारत ने मिराज विमानों को लगातार अपग्रेड किया है और ये अभी परमाणु बम तक गिराने में सक्षम बताए जाते हैं। यही वजह है कि भारत को इनके पार्ट्स की बहुत जरूरत है। ग्रीस खरीद रहा राफेल और एफ-35 फाइटर जेट ग्रीस की वायुसेना अपने नए मिराज 2000-5 विमानों के भविष्‍य को लेकर भी विचार कर रही है जिसे अभी भी वह उड़ा रही है। ये नए मिराज विमान हवा में बादशाहत कायम करने के लिए डिजाइन किए गए हैं। ग्रीस की मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक ग्रीस की वायुसेना ने इन मिराज विमानों में समय के साथ कुछ अपग्रेड किया है लेकिन अब उन्‍हें नेटवर्क सेंट्रिक ऑपरेशन के दौरान इन विमानों को संचालित करने में दिक्‍कतों का सामना करना पड़ रहा है। इन विमानों में लिंक 16 टर्मिनल को लगाया जाना था ताकि एक विमान में तैनात पायलट दूसरे विमान के पायलट से बात कर सके लेकिन ऐसा नहीं हो पा रहा है। बताया जा रहा है कि इसमें आने वाले खर्च और कार्यकुशलता को लेकर सवाल उठ रहा है। इससे पहले साल 2021 में ग्रीस की सरकार ने फ्रांस को 18 राफेल फाइटर जेट का ऑर्डर दिया था। इनमें से 12 फ्रांसीसी वायुसेना के इस्‍तेमाल किए हुए राफेल थे लेकिन बाकि 6 एकदम नए थे। इस ऑर्डर के साथ कई तरह के हथियारों जैसे एंटी शिप मिसाइल और स्‍कल्‍प क्रूज मिसाइल शामिल है। ग्रीस ने इन विमानों को तब खरीदने का फैसला किया जब उसका तुर्की के साथ तनाव काफी बढ़ा हुआ है। इसके बाद मार्च 2022 में ग्रीस ने 6 और राफेल फाइटर जेट का ऑर्डर दिया। उसकी योजना राफेल विमानों को 40 तक पहुंचाने की है। अब वह मिराज को बेचकर जो पैसा पाएगा उससे राफेल के लिए पैसा दे सकेगा। ग्रीस ने अमेरिका के 40 एफ-35 विमानों का भी ऑर्डर दिया है जो पांचवीं पीढ़ी के माने जाते हैं और ये तुर्की के पास भी नहीं हैं।