वो 3 गलतियां जो टीम इंडिया को सुधारनी ही होंगी, वरना दोबारा टेंशन दे जाएंगे कप्तान स्टीव स्मिथ

अहमदाबाद: ऑस्ट्रेलिया के नियमित कप्तान पैट कमिंस अपनी बीमार मां के पास ऑस्ट्रेलिया में ही हैं। वह चौथे टेस्ट के लिए भी भारत नहीं लौट पाएंगे। उनकी गैर मौजूदगी में स्टीव स्मिथ ही टीम की कप्तानी करेंगे। कमिंस की गैरहाजिरी में स्मिथ ने ही इंदौर टेस्ट में अपनी टीम को वापसी करवाई थी। भारत के खिलाफ स्टीव स्मिथ का कप्तानी रिकॉर्ड वैसे भी शानदार है। भले ही फिलहाल टीम इंडिया बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में 2-1 से आगे है, लेकिन अगर उसे वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (WTC) फाइनल में सीधे क्वॉलिफाई करना है तो 9 मार्च से अहमदाबाद में होने वाले चौथे और आखिरी टेस्ट में इन 3 गलतियों से बचना होगा।बैटिंगभारत के बल्लेबाजों का अच्छा प्रदर्शन न कर पाना अब एक चलन बन गया है। नागपुर में पहली पारी को छोड़कर, कप्तान रोहित शर्मा का बल्ला सीरीज भर शांत ही रहा। आउट ऑफ फॉर्म केएल राहुल की जगह लेने वाले शुभमन गिल भी इंदौर में अच्छा प्रदर्शन करने में नाकाम रहे। चेतेश्वर पुजारा के नाम सीरीज में सिर्फ एक अर्धशतक है, जबकि विराट कोहली अभी तक एक भी अर्धशतक नहीं बना पाए हैं। यह बल्लेबाजों की सामूहिक नाकामयाबी थी। शुरुआती दो मैच में लोअर ऑर्डर ने इस कमी को छिपा दिया था।पिचभारतीयों ने एक ऐसी पिच तैयार की, जिसने पहले दिन के पहले सेशन से गेंद घूमानी शुरू कर दी। टीम इंडिया अपने ही जाल में फंस गई क्योंकि पहले दिन ही टीम सिर्फ 109 रन पर सिमट गई। पिच पर वास्तव में बल्ले और गेंद के बीच कोई बैलेंस फैक्टर नहीं था। भारत को अहमदाबाद मैच के लिए तैयार की जाने वाली पिच से सावधान रहने की जरूरत है, क्योंकि इंदौर की पिच आदर्श नहीं थी। इस सतह को आईसीसी ने ‘खराब’ का दर्जा दिया है और तीन डेमेरिट पॉइंट्स भी दिए।DRSतीसरे टेस्ट मैच के दौरान कई मैदानी फैसलों को तीसरे अंपायर ने पलट दिया था। आजकल हार-जीत में डीआरएस की भूमिका हो जाती है। ऐसे में रीव्यू कब लेना है और कब बचाकर रखना है, ये कप्तानी कौशल में गिना जाता है। इंदौर टेस्ट में भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने काफी गलत फैसले लिए। अपने कई मौके गंवाए। भारतीय टीम को निश्चित रूप से इस पर बेहतर होने की जरूरत है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि रीव्यू बर्बाद न हो।