ये है लोकसभा सभा की वो चिट्ठी, जिसने एक झटके में राहुल गांधी की सांसदी छीन ली

नई दिल्ली: कांग्रेस नेता राहुल गांधी की लोकसभा सदस्यता खत्म हो गई है। गुरुवार को सूरत की अदालत ने मानहानि मामले में उन्हें दोषी घोषित किया था और 2 साल की जेल की सजा सुनाई थी। इसके बाद आज लोकसभा सचिवालय ने उन्हें अयोग्य घोषित कर दिया और उनकी संसद सदस्यता खत्म करने का नोटिस जारी कर दिया। किस नियम के तहत गई राहुल गांधी की सदस्यताबता दें कि राहुल गांधी 2019 के लोकसभा चुनाव में केरल की वायनाड संसदीय सीट से सांसद चुने गए। लोकसभा सचिवालय की ओर से जारी अधिसूचना में कहा गया है कि उनकी अयोग्यता संबंधी आदेश 23 मार्च से प्रभावी होगा। अधिसूचना में कहा गया है कि उन्हें (राहुल गांधी) संविधान के अनुच्छेद 102 (1) और जन प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 धारा 8 के तहत अयोग्य घोषित किया गया है। अदालत ने दे दी थी जमानतगौरतलब है कि सूरत की एक अदालत ने ‘मोदी सरनेम’ संबंधी टिप्पणी को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी के खिलाफ 2019 में दर्ज आपराधिक मानहानि के एक मामले में उन्हें गुरुवार को दो साल कारावास की सजा सुनाई। अदालत ने राहुल को जमानत भी दे दी और उनकी सजा के अमल पर 30 दिनों तक के लिए रोक लगा दी, ताकि कांग्रेस नेता फैसले को चुनौती दे सकें।