राहुल गांधी के आने से चार दिन बंद रहेगा हाइवे, रूट डाइवर्शन को लेकर उठ रहा विवाद

कोटा : राजस्थान के कोटा से झालावाड़ (Kota to Jhalawar) जाने वाले वाहन चालकों और आमजन के लिए जरूरी सूचना हैं। 4 से 8 दिसंबर तक NH-52 यानी कोटा -झालावाड़ हाईवे (National Highway -52) रूट बंद रहेगा। लिहाजा इस रूट से जाने वाले लोगों को इन चार दिनों के लिए वैकल्पिक मार्ग अपनाना होगा, जो कोटा-बारां- खानपुर-झालावाड़ है।

दरअसल यह रूट डायवर्ट प्रशासन ने राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा () को लेकर किया हैं। यह कहा जा रहा है कि राहुल गांधी की यात्रा के चलते होने वाले रूट डायवर्शन (Route diversion) से 5 दिन तक आम लोगों की मुश्किल भी बढ़ेगी। उन्हें हैवी ट्रैफिक (Heavy Traffic) जैसी समस्या का भी सामना करना पड़ेगा।

मध्यप्रदेश से झालावाड़ जिले में एंटर करेगी यात्रा बता दें कि राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा का राजस्थान रूट फाइनल हो चुका है। कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा 4 दिसंबर को मध्यप्रदेश से झालावाड़ जिले में एंटर करेगी। 7 दिसंबर को कोटा सिटी में यात्रा आएगी।

यात्रा कोटा-झालावाड नेशनल हाइवे 52 से होकर गुजरेगी। इसी के चलते प्रशासन ने नेशनल हाइवे पर डायवर्ट की योजना बनाई है। जिस दिन यात्रा झालावाड़ में 4 दिसंबर को आएगी। उसी दिन कोटा से झालावाड़ यह सड़क मार्ग बंद रहेगा। 8 दिसंबर को यात्रा हाइवे से निकल जाएगी। उसके बाद रूट को फिर से खोला जाएगा।

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के दौरान का ट्रैफिक मैनेजमेंट एक बड़ा चैलेंज होगा। हालांकि प्रशासन का कहना है कि वो रूट डायवर्ट की जानकारी आमजन को अपडेट करता रहेगा, आमजन को किसी भी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़े, इसके लिए ट्रैफिक कांस्टेबल की भी पर्याप्त व्यवस्था रहेगी।

अधिकारियों का कहना हैं कि जिस दिन इस रूट से भारत जोडो यात्रा गुजरेगी, उस दिन लोग कोटा-बारां- खानपुर-झालावाड़ से जा सकते हैं। इस रूट के जरिए उनकी यात्रा सुगम रहेगी। 8 दिसंबर को बूंदी जिले से होती हुई यात्रा सवाई माधोपुर की तरफ निकल जाएगी। इसके बाद दौसा और फिर अलवर होकर यात्रा हरियाणा चली जाएगी।

जानिए कैसा है राहुल गांधी का सुरक्षा घेरा राहुल गांधी पैदल चल रहे हैं। उनकी यात्रा के लिए सिक्योरिटी के तीन स्टेप अडॉप्ट किए गए हैं। सबसे पहले सीआरपीएफ, उसके बाद लोकल पुलिस और तीसरे चरण में सीपीटी जाप्ता रहता है। राहुल गांधी के पास केवल उनके बुलाए जाने पर ही लोगों को जाने की अनुमति होती है। पदयात्री पीछे-पीछे चलते है। राहुल गांधी की यात्रा में उनके लिए एडवांस में खाने,पीने और ठहरने का इंतजाम है। यात्रा में 60 कंटेनर हैं। नुक्कड़ सभा होगी, वहां पर भी पुलिस का पर्याप्त जाप्ता रहेगा।

बीजेपी बोली – यह लोगों को परेशान करने वाली यात्रा कोटा देहात बीजेपी मुकुट नागर,जिलाध्यक्ष ने राहुल गांधी की यात्रा को लेकर किए जा रहे रूट डायवर्जन पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। उनका कहना है कि यह पब्लिक को परेशान करने वाली यात्रा है। कोई भी यात्रा निकलती है, तो सड़क की एक साइड निकलती हैं, लेकिन इस यात्रा के लिए रूट को डायवर्ट किया जा रहा है। आम रास्ते को रोककर यात्रा को आगे बढ़ाया जा रहा है। ऐसे यात्रा निकालना ,जानबूझकर जनता को दुखी करना है। लोगों को बेवजह परेशान किया जाएगा। राहुल गांधी की यात्रा से पब्लिक क्यों परेशान हो, प्रशासन को इस बारे में सोचना चाहिए।

इधर, यात्रा में रूट डायवर्जन को लेकर जिला कांग्रेस कमेटी शहर के जिलाध्यक्ष रविंद्र त्यागी ने नकहा कि हाइवे बंद होने की मुझे जानकारी नहीं हैं। पूरी जानकारी होने के बाद ही इस संबंध में बता पाऊंगा।