भूखे हैं, पहले कुछ खिलवा दीजिए…अतीक पर पूछा सवाल तो अशरफ ने लगाई गुहार

प्रयागराज: उमेश पाल की किडनैपिंग से जुड़े 17 साल पुराने मामले में (Atique Ahmed) को उम्रकैद की सजा हुई है। वहीं अशरफ (Ashraf) को इस मामले से दोषमुक्त कर दिया गया है। अतीक को वापस गुजरात की साबरमती जेल, तो अशरफ को बरेली जेल की तरफ रवाना कर दिया गया। इस दौरान अशरफ ने खाना खिलाए जाने की गुहार लगाई। प्रयागराज की एमपी-एमएलए कोर्ट में पेशी और सजा के बाद अशरफ को पुलिस वज्र वाहन से बरेली की तरफ ले जाया गया। इस दौरान मीडियाकर्मियों ने अशरफ से सवाल करना चाहा। सवालों के जवाब में बोला कि हम भूखे हैं पहले कुछ खिलवा दीजिए। उसने आगे कहा कि हमें न्यायपालिका पर पूरा विश्वास है। अतीक अहमद को मिली सजा के बारे में अशरफ ने कहा कि फैसले के खिलाफ ऊपर कोर्ट में जाएंगे। 17 साल पुराने उमेश पाल किडनैपिंग कांड में दोषमुक्त करार दिया गया अशरफ बरेली जेल जाते समय अपने एनकाउंटर किए जाने को लेकर काफी भयभीत दिखा। उसे सबूतों के अभाव में दोषमुक्त कर दिया गया है। इतना ही नहीं, अशरफ ने कहा कि उससे किसी बड़े अफसर ने कहा कि 2 महीने के अंदर तुम्हें फिर से किसी बहाने से जेल से बाहर निकालेंगे और निपटा दिए जाओगे। अशरफ ने इस दौरान मुख्यमंत्री की भी खुशामद की कोशिश की। उसने कहा कि योगी आदित्यनाथ पर भी कई फर्जी मुकदमे दर्ज थे, इसलिए वह मेरी पीड़ा को समझ सकते हैं। अशरफ ने आरोप लगाया कि मेरे परिवार को फंसाया गया है। उसने कहा कि मेयर का चुनाव लड़ने वाली थी और प्रचार में लगी थीं इसलिए उनको फंसा दिया गया। अशरफ ने कहा कि अगर मेरी हत्या होती है तो माननीय चीफ जस्टिस को, इलाहाबाद के चीफ जस्टिस को और माननीय मुख्यमंत्री को मेरा बंद लिफाफा पहुंच जाएगा।