Pele को इन Goals ने बनाया GOAT, जानें उनके शानदार खेल और गोल के बारे में

पेले विश्व फ़ुटबॉल के सबसे शानदार गोल स्कोररों में से एक थे, जिन्होंने ब्राज़ील की टीम को एक नहीं बल्कि तीन बार विश्व चैंपियन बनाया था। पेले की शख्सियत इतनी बड़ी है जो कि उनके रिकॉर्ड्स से पता चलती है। उन्होंने 1363 मैचों के दौरान 1279 गोल दागे थे। इस कारण उनक नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी शामिल किया गया है। एक तरफ जहां पेले के निधन से फुटबॉल के एक युग का अंत हो गया है। वहीं अब आपको महान फुटबॉलर पेले के ऐसे मैचों के बारे में बताते हैं जो फुटबॉल फैंस के बीच आज भी चर्चा का विषय है।वर्ष 1957 में अर्जेंटीना के खिलाफ दागा पहला गोलपेले के करियर का पहला गोल वर्ष 1957 में आया था। ये गोल उन्होंने महज 16 वर्ष की उम्र में अर्जेंटीना की टीम के खिलाफ दागा था। ये मुकाबरा माराकाना में हुआ था जो दोनों टीमों के बीच एक फ्रेंडली मुकाबला था। इस मुकाबले में 76वें मिनट पर पेले ने ब्राजील के लिए अपना पहला गोल दागा था। इसके बाद ब्राजील के लिए गोल दागने की प्रक्रिया खत्म नहीं हुई। 1958 – विश्व कप में हैट्रिक बनाने वाले सबसे कम उम्र के खिलाड़ीपेले सिर्फ एक खिलाड़ी ही नहीं थे, ये उन्होंने अपने हर मुकाबले में साबित किया। खास तौर से 1958 के विश्व कप सेमीफाइनल मुकाबले में ब्राजील और फ्रांस के बीच खेले गए मुकाबले में फोनटाइन जैसे आठ गोल करने वाले खिलाड़ी की टीम के खिलाफ ब्राजील का मुकाबला था। इस मुकाबले को आज भी पेले की हैट्रिक के लिए याद किया जाता ह। इस मुकाबले में सबसे युवा खिलाड़ी पेले ने हैट्रिक मारी और फ्रांस को 5-2 से मात दी। 1958 – विश्व कप फाइनल में दो बार स्कोरिंगसेमीफाइनल मुकाबले में हैट्रिक की बदौलत फ्रांस को मात देने वाले पेले ने अपना दमदार प्रदर्शन फाइनल मुकाबले में भी जारी रखा। फाइनल मुकाबले में पेले ने स्वीडन के खिलाफ दो गोल दागे थे। एक 17 वर्ष की उम्र के खिलाड़ी के इस गोल की आज भी चर्चा की जाती है। इस साल में पेले को अपना पहला विश्व कप भी मिला था। 1962 – विश्व कप के शुरुआती मैच में चोटिल होने के कारण बाकी टूर्नामेंट से बाहर रहने से पहले स्कोर कियावर्ष 1962 के मुकाबले में पेले ने करियर की पहली सबसे बड़ी इंजरी हुई थी। इस दौरान उन्होंने विश्व कप में मेक्सिको के खिलाफ एक गोल कर दिया था, जिसके बाद उन्हें इंजरी के कारण मुकाबलों से बाहर रहना पड़ा था। इस टूर्नामेंट में भी ब्राजील की टीम ने विश्व कप पर कब्जा जमाया था। 1970 – द हाफवे लॉब बनाम चेकोस्लोवाकियापेले 1970 में अपना तीसरा और अंतिम विश्व कप जीता था। इस टूर्नामेंट में उनके द्वारा दो शानदार गोल किए गए थे, जिसके लिए आज भी पेले को याद किया जाता है। चेकोस्लोवाकिया के खिालफ मुकाबले में एक गोल दाग कर उन्होंने टीम को जीत दिलवाई थी। 1970 – उरुग्वे के खिलाफ चला था जादूइस विश्व कप के सेमीफाइनल मुकाबले में उरुग्वे के खिलाफ पेले ने शानदार लीड हासिल की थी। इस मुकाबले में गोल कर पेले ने ब्राजील की टीम को फाइनल में पहुंचाया था। 1970 – फाइनल में किया ब्राजील के लिए 100 गोल1970 के विश्व कप के फाइनल मुकाबले में एक गोल करने के बाद पेले जैरज़िन्हो के साथ गोल करने का जश्न मनाते है। ये गोल उनका ब्राजील की टीम के लिए 100वां गोल था। ये गोल पेले ने एक हेडर के जरिए किया था। इसके बाद उन्होंने अन्य तीन गोल करने में भी टीम के खिलाड़ियों की मदद की। इसके साथ ही पेले ने रिकॉर्ड तीन विश्व कप जीतने की उपलब्धि भी हासिल की थी। आज भी ये उपलब्धि किसी खिलाड़ी के पास नहीं है।