टीएमसी में पुराने नेताओं व नयी पीढ़ी के बीच कोई मतभेद नहीं: Abhishek Banerjee

तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के वरिष्ठ नेता अभिषेक बनर्जी ने रविवार को इस बात पर जोर दिया कि ममता बनर्जी के नेतृत्व में पार्टी एकजुट है और पुराने नेताओं एवं नयी पीढ़ी के बीच कोई मतभेद नहीं है।
टीएमसी के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक ने इन आरोपों को खारिज कर दिया कि वह पार्टी के भीतर निष्क्रिय होने का इरादा रखते हैं। उन्होंने ऐसी खबरों को ‘‘गलत और निराधार’’ करार दिया।
पार्टी सुप्रीमो ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक ने दक्षिण 24 परगना जिले के डायमंड हार्बर में एक कार्यक्रम के दौरान कहा, ‘‘पिछले कुछ दिनों में पार्टी के पुराने और नए सदस्यों के बीच मतभेद की खबरें आई हैं। हालांकि, मैं इस बात पर जोर देना चाहता हूं कि पार्टी हमारी सुप्रीमो और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के नेतृत्व में एकजुट है।’’
डायमंड हार्बर सांसद अभिषेक ने आगामी लोकसभा चुनावों के लिए एकजुट होकर काम करने के प्रति पार्टी की सामूहिक प्रतिबद्धता पर जोर देते हुए स्पष्ट किया, ‘‘टीएमसी में पुराने नेताओं और नयी पीढ़ी के बीच कोई मतभेद नहीं है।’’
उन्होंने इन दावों को खारिज कर दिया कि वह पार्टी की गतिविधियों से पीछे हटने की योजना बना रहे हैं। अभिषेक ने कहा, ‘‘ऐसी खबरें कि मैंने पार्टी में निष्क्रिय होने का फैसला किया है, गलत हैं। हां, लोकसभा चुनाव नजदीक आने के साथ, मेरे पास अपने निर्वाचन क्षेत्र में प्रचार करने की जिम्मेदारियां हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि अगर मुझे कोई जिम्मेदारी सौंपी गई तो मैं पार्टी में योगदान नहीं दूंगा।