आतंकवाद पर कोई समझौता नहीं… पाकिस्तान पर मिसाइल हमले के बाद क्या बोला ईरान

तेहरान: ईरान ने पाकिस्तान में किए गए हमले के बाद सफाई दी है। ईरान के विदेश मंत्री हुसैन अमीर-अब्दुल्लाहियन ने स्विट्जरलैंड के दावोस में चल रहे विश्व आर्थिक मंच की बैठक के दौरान कहा कि हम पाकिस्तान की संप्रभुता और अखंडता का सम्मान करते हैं, लेकिन आतंकवाद से कोई समझौता नहीं करेंगे। उन्होंने दावा किया है कि ईरान के मिसाइल और ड्रोन हमले के निशाने पर कोई पाकिस्तानी नागरिक नहीं था। उन्होंने कहा कि ईरान के निशाने पर आतंकवादी समूह जैश अल अदल है, जिसके लड़ाके पाकिस्तान के बलूचिस्तान के सिस्तान में छिपे हुए हैं। अब्दुल्लाहियन ने बुधवार को कहा, “भाईचारे वाले देश पाकिस्तान के किसी भी नागरिक को ईरानी मिसाइलों और ड्रोनों ने निशाना नहीं बनाया गया। जैश अल-अदल को निशाना बनाया है जो एक ईरानी आतंकवादी ग्रुप है। पाकिस्तान की धरती पर हमला आतंकी ग्रुप के ईरान पर किए गए घातक हमलों का जवाब था। उन्होंने कहा, “आतंकी समूह ने पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत के कुछ हिस्सों में शरण ले रखी है। हमने इस मामले पर कई बार पाकिस्तानी अधिकारियों से बात की है। ईरान पाकिस्तान की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता का सम्मान करता है लेकिन देश की राष्ट्रीय सुरक्षा से समझौता या खिलवाड़ नहीं होने देगा।”पाकिस्तान ने ईरान से राजदूत को वापस बुलायापाकिस्तान ने ईरान से अपने राजदूत को वापस बुला लिया तथा सभी आगामी उच्च स्तरीय द्विपक्षीय यात्राएं निलंबित कर दीं। पाकिस्तान के विदेश कार्यालय ने कहा, ‘‘ पिछली रात ईरान द्वारा बिना उकसावे के पाकिस्तान की संप्रभुता का खुल्लमखुल्ला उल्लंघन किया जाना अंतरराष्ट्रीय कानून तथा संयुक्त राष्ट्र के चार्टर के उद्देश्यों एवं सिद्धांतों का उल्लंघन है। यह गैर कानूनी कार्रवाई बिल्कुल अस्वीकार्य है और उसे किसी भी तरह से सही नहीं ठहराया जा सकता।’’ उसने कहा, ‘‘ पाकिस्तान को इस अवैध कृत्य का जवाब देने का हक है। इसके परिणामों की पूरी जिम्मेदारी ईरान पर होगी।’’ उसने कहा कि पाकिस्तान ने ईरान सरकार तक यह संदेश पहुंचा दिया है।ईरानी राजदूत को भी न आने को कहाविदेश कार्यालय ने कहा, ‘‘ हमने उसे यह भी सूचित कर दिया है कि पाकिस्तान ने ईरान से अपने राजदूत को वापस बुलाने का फैसला किया है और यह भी कि ईरान यात्रा पर गये पाकिस्तान में ईरान के राजदूत फिलहाल न लौटें। हमने उन सभी उच्च स्तरीय यात्राओं को भी निलंबित करने का निर्णय लिया है जो चल रही हैं या आने वाले दिनों के लिए पाकिस्तान एवं ईरान के बीच निर्धारित की गयी हैं।’’