घटना के दो पहलू हैं… मालीवाल केस में सीएम केजरीवाल की पहला रिएक्शन, स्वाति ने किया पलटवार

नई दिल्ली: स्वाति मालीवाल मारपीट मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का बयान सामने आया है। उन्होंने कहा है कि वो इस मामले में निष्पक्ष जांच चाहते हैं, क्योंकि इस घटना के दो पहलू हैं। केजरीवाल के बयान पर स्वाति मालीवाल ने भी पलटवार किया है। उन्होंने कहा है कि आरोपी मुख्यमंत्री, जिनके ड्राइंग रूम में मुझे पीटा गया था, ने आखिरकार कहा है कि वह मामले में स्वतंत्र और निष्पक्ष जांच चाहते हैं। स्वाति ने किया पलटवारस्वाति मालीवाल ने एक्स (ट्विटर) पर पोस्ट करते हुए कहा, ‘मेरे कंप्लेंट फाइल करते ही नेताओं और वालंटियर की पूरी आर्मी मेरे पीछे लगाई गई, मुझे BJP का एजेंट बुलाया गया, मेरा चरित्र हरण कराया गया, काट पीट के वीडियो लीक की गई, मेरी victim shaming करी गई, आरोपी के साथ घूमे, उसको क्राइम सीन पे दोबारा आने दिया और सबूत से छेद छाड़ करी गई, आरोपी के लिये ख़ुद सड़क पे उतर गये, और अब मुख्यमंत्री साहब जिनके ड्राइंग रूम में मुझे पीटा गया, वो कह रहे हैं कि उन्हें इस मामले में निष्पक्ष जाँच चाहिए। इससे बड़ी विडंबना क्या ही होगी। मैं इसे नहीं मानती। कथनी और करनी एक समान होनी चाहिये।सीएम केजरीवाल की पहली प्रतिक्रिया आई सामनेइस केस में पहली बार अरविंद केजरीवाल की प्रतिक्रिया सामने आई। उन्होंने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि मामले की निष्पक्ष जांच होगी और न्याय मिलेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि मामला फिलहाल कोर्ट में चल रहा है और उनका बयान कार्यवाही को प्रभावित कर सकता है। बता दें कि स्वाति मालीवाल ने एक दिन पहले भी आरोप लगाया था कि उन्हें बदनाम करने की साजिश की जा रही है। कुछ नेताओं पर दबाव डाला जा रहा है कि स्वाति के ख़िलाफ़ गंदी बातें बोलनी हैं, उसकी पर्सनल फ़ोटोज़ लीक करके उसे तोड़ना है। ये बोला जा रहा है कि जो उसको सपोर्ट करेगा उसको पार्टी से निकाल देंगे। उन्होंने कहा, तुम हजारों की फौज खड़ी कर दो, अकेले सामना करूँगी क्योंकि सच मेरे साथ है। मुझे इनसे कोई नाराजगी नहीं है, आरोपी बहुत शक्तिशाली आदमी है। बड़े से बड़ा नेता भी उससे डरता है। किसी की हिम्मत नहीं उसके ख़िलाफ़ स्टैंड ले पाए। मैं किसी से उम्मीद भी नहीं करती। दुख इस बात का लगा कि दिल्ली की महिला मंत्री कैसे हंसते मुस्कुराते पार्टी की एक पुरानी महिला साथी का चरित्र हरण कर रही है। मैंने अपनी स्वाभिमान की लड़ाई शुरू की है, इंसाफ़ मिलने तक लड़ाई लड़ती रहूँगी। इस लड़ाई में मैं पूरी तरह अकेली हूँ पर हार नहीं मानूंगी!’