पांच का टेबल न सुना पाने पर टीचर ने दी ‘तालिबानी सजा’, पूरी क्लास से बच्चे को पिटवाया, वीडियो वायरल

मुजफ्फरनगर: यूपी में मुजफ्फरनगर के एक स्कूल में 7 साल के बच्चे को 5 पहाड़ा न सुनाने पर अजीब सजा दी गई। शिक्षिका ने छात्र को उसके सहपाठियों से पिटवाया। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। पुलिस ने वायरल वीडियो का संज्ञान लेते हुए जांच कर कार्रवाई की बात कही है। वहीं ट्वीटर पर भी ट्रेंड कर रहा है।सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो में 7 वर्षीय स्कूली छात्र को उसके सहपाठी बारी-बारी से तमाचा मारते नजर आ रहे हैं। वीडियो में क्लास ले रही शिक्षिका कथित तौर से मुस्लिम बच्चों के बारे में कुछ टिप्पणी भी कर रही है। साथ ही स्‍कूल में बैठे एक व्‍यक्ति से वार्तालाप के दौरान यह भी बता रही हैं कि उन्‍होंने बच्‍चे को फाईव का टेबल फाईवजा तक याद करा दिया था, लेकिन वह भूल गया। इसी दौरान वह तमाचा मारने वाले बच्चों को जोर से मारने के लिए निर्देशित भी करती है। उसके बाद बालक को उसका सहपाठी कमर पर मारता है। वीडियो में 38 और 40 सेकेंड के दो वीडियो में बालक को छात्र के साथ छात्राएं भी मारती हैं। पीड़ा से बालक रोने लगता है। सोशल मीडिया पर वायरल उक्त वीडियो को एक व्यक्ति ने मुजफ्फरनगर पुलिस को ट्वीट किया। इसे गंभीरता से संज्ञान में लेते हुए मामले की जांच शुरू कर दी गई।गांव खुब्‍बापुर के स्‍कूल का है वायरल वीडियोसीओ खतौली डा रमाशंकर ने बताया कि वायरल वीडियो थाना मंसूरपुर क्षेत्र के गांव ख़ूबबापुर मै नेहा पब्लिक स्कूल की है। उन्होंने बताया कि मामले में शुरुआती जांच की गई। जांच में सामने आया कि 5 का पहाड़ा न सुना पाने पर 7 वर्षीय कक्षा यूकेजी के छात्र अल्‍तमश को विद्यालय शिक्षिका तृप्ति त्यागी ने सजा दी थी। उन्‍होंने बताया कि इस मामले में तहरीर प्राप्‍त कर आगे की वैधानिक कार्रवाई की जा रही है।बच्‍चे को पीटने के मामले में कार्रवाई की तैयारी में पितानेहा पब्लिक स्‍कूल के छात्र के पिता ने बताया कि वे लोग बच्‍चे के साथ मार पिटाई करवाने वाली शिक्षिका के खिलाफ कार्रवाई चाहते हैं, थोडी देर पहले उनकी एसएचओ से बात हुई है। वह कुछ देर में जानकारी लेने के लिए उनके घर पर पहुंच रहे हैं।वीडियो के आधार पर बीएसए ने बैठाई मामले की जांचबीएसए शुभम शुक्‍ला ने बताया प्रकरण उनके संज्ञान में आया है। शाहपुर के ब्‍लॉक एजुकेशन अधिकारी को मामले की जांच सौंपी गई है। वह स्‍वयं भी कल मौके पर पहुंचकर मामले को समझेंगे। स्‍कूल मैनेजमेंट को भी नोटिस दे दिया गया है।