मध्य प्रदेश में जहां राम और कृष्ण के चरण पड़े, वह बनेगा तीर्थ स्थल : सीएम मोहन यादव

बैतूल, 14 जून: मध्य प्रदेश में इन दिनों जल संरक्षण के लिए ‘जल गंगा संवर्धन अभियान’ चलाया जा रहा है। इसी अभियान के तहत प्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव शुक्रवार को बैतूल जिले के मुलताई पहुंचे। जहां उन्होंने करीब 350 करोड़ की लागत के 108 विकास कार्यों का लोकार्पण और भूमि पूजन किया।
 
इस दौरान उन्होंने एक बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि प्रदेश में जहां-जहां राम और कृष्ण के चरण पड़े हैं, उन स्थलों को राज्य सरकार तीर्थ स्थल बनाएगी।
 
 
 
 
 
 
सीएम मोहन यादव ने कहा कि ताप्ती नदी के स्थल को भी तीर्थ स्थान बनाया जाएगा। मुख्यमंत्री ने जल और पर्यावरण संरक्षण पर खास जोर दिया। इसके साथ ही उन्होंने आम लोगों से अपनी जिम्मेदारी के निर्वहन की अपील की।
 
 
 
 
 
 
प्रदेश में मुख्यमंत्री पद की कमान संभालते ही मोहन यादव ने विभिन्न योजनाओं को अमली जामा पहनाने का ऐलान किया था। इसके साथ ही उन्होंने धार्मिक स्थलों के विकास पर भी जोर दिया था। इसी कड़ी में लोकसभा चुनाव को लेकर लागू आचार संहिता के खत्म होने के बाद राज्य में एक बार फिर विकास कार्यों पर जोर दिया जा रहा है।
 
 
 
 
 
 
मध्य प्रदेश में विश्व पर्यावरण दिवस से जल गंगा संवर्धन अभियान की शुरुआत हुई है। इस अभियान में राज्य की जल संरचनाओं के संरक्षण पर लगभग 3,000 करोड़ रुपए खर्च किया जा रहा है। सीएम यादव विभिन्न जल संरचना स्थल पर आयोजित कार्यक्रम में भी हिस्सा ले रहे हैं।
The post मध्य प्रदेश में जहां राम और कृष्ण के चरण पड़े, वह बनेगा तीर्थ स्थल : सीएम मोहन यादव appeared first on Daily Hindi News.