भाजपा के नए ‘सम्राट’ बने ‘चौधरी’, नीतीश को टक्कर देने के लिए पार्टी ने खेला बड़ा दांव

भाजपा ने बिहार प्रदेश अध्यक्ष को लेकर बड़ा फैसला किया है। सम्राट चौधरी को बिहार प्रदेश भारतीय जनता पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले पार्टी ने यह बड़ा दांव खेला है। सम्राट चौधरी संजय जायसवाल की जगह लेंगे। माना जा रहा है कि भाजपा ने यह कदम नीतीश कुमार को बड़ा झटका देने से उठाया है। बिहार में कुशवाहा और कुर्मी वोट पर नीतीश कुमार की जबरदस्त पकड़ रही है। ऐसे में सम्राट चौधरी को आगे कर इस वोट बैंक में भाजपा सेंध लगाने की कोशिश करेगी।  इसे भी पढ़ें: मोदी विरोधी पोस्टर लगाने वालों ने खुद को राजनीतिक रूप से डरपोक साबित कर दिया हैसम्राट चौधरी लगातार नीतीश सरकार पर हमलावर रहते हैं। हाल में ही विधान परिषद में नीतीश कुमार और सम्राट चौधरी के बीच जबरदस्त नोकझोंक भी हुई थी। हाल में ही बिहार को लेकर भाजपा की एक बड़ी बैठक हुई थी। इस बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और पार्टी के अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा मौजूद रहे। सम्राट चौधरी बिहार विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष में हैं जबकि विजय कुमार सिन्हा विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष हैं। सम्राट चौधरी साल 2014 में आरजेडी छोड़कर जदयू में शामिल हुए थे। इसके बाद उन्हें एमएलसी बनाया गया था और फिर भी मंत्री बने। इसे भी पढ़ें: Karnataka Election से पहले भाजपा को झटका, इस बड़े नेता ने थामा कांग्रेस का दामन, खड़गे की हार में निभाई थी अहम भूमिका2018 में सम्राट चौधरी भाजपा में शामिल हो गए। सम्राट चौधरी राजनीतिक परिवार से आते हैं। आरजेडी के शासनकाल में भी वह मंत्री रह चुके हैं। सबसे कम उम्र के मंत्री बनने के मामले में उनके नाम रिकॉर्ड है। 2000 और 2010 में परबत्ता विधानसभा क्षेत्र से चुनाव जीतने में कामयाब हुए थे। उनके पिता शकुनी चौधरी से बार विधायक और एक बार सांसद रहे हैं। इससे पहले संजय जायसवाल का कार्यकाल पूरा हो गया था। बिहार में बदलाव के खबर भी आ रही थी। आप सम्राट चौधरी को यह जिम्मेदारी दे दी गई है।