भारतीय कोच ने कही ऐसी बात, पकड़ लेंगे सिर, ‘गलत फैसला’ बना पाकिस्तान से हार की वजह

महिला एशिया कप में थाईलैंड के हाथों उलटफेर का शिकार होने वाली पाकिस्तान ने अपने से काफी मजबूत भारतीय टीम को ही चौंका दिया. खुद चौंकाने वाली हार झेलने के एक दिन बाद ही पाकिस्तान ने भारत का वही हाल कर दिया. इस मैच के दौरान भारतीय बैटिंग ऑर्डर में हुए बदलावों ने सबको चौंका दिया था और इसे ही हार की वजह बताया जा रहा है. अब कोच रमेश पोवार ने इन फैसलों की जो वजह बताई है, उसे जानकर कोई भी अपना सिर पकड़ लेगा.
बांग्लादेश के सिलहट में शुक्रवार 7 अक्टूबर को पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए सिर्फ 137 रन बनाए थे. स्मृति मांधना, जेमिमा रॉड्रिग्ज और कप्तान हरमनप्रीत कौर जैसे बल्लेबाजों से भरी टीम इंडिया इसके जवाब में सिर्फ 124 रन पर ढेर हो गई. टीम ने इस रनचेज के दौरान बैटिंग में प्रयोग किए और कप्तान कौर से पहले पूजा वस्त्राकर और दीप्ति शर्मा को भेज दिया था. ये दांव पूरी तरह उल्टा पड़ा और टीम 13 रन से हार गई.
‘पाकिस्तान से हार झटका नहीं’
मैच के बाद कोच और कप्तान से जब इन फैसलों के बारे में पूछा गया, तो हैरान करने वाला जवाब दिया. कोच पोवार ने कहा कि वे युवा खिलाड़ियों को ज्यादा से ज्यादा मौका देने का प्रयास कर रहे थे और इसलिए एक्सपेरिमेंट का फैसला किया. पोवार ने एक तो इस हार को झटका मानने से ही इंकार कर दिया. उन्होंने कहा, “यह झटका नहीं है…हम इसे इस तरह नहीं देख रहे हैं. हमें कुछ परेशानी का सामना करना पड़ रहा था, जिन्हें ठीक करना जरूरी था.”
बड़े मैच में एक्सपेरिमेंट क्यों?
पोवार ने आगे कहा कि वह देखना चाहते थे कि युवा खिलाड़ी दबाव से निपटने में कैसे हैं. कोच ने कहा, “इस चीज की योजना हमने तीन मैचों के बाद ही बना ली थी कि हम कुछ युवा खिलाड़ियों को आजमाना चाहते थे. हम दयालन हेमलता, पूजा वस्त्राकर, ऋचा घोष और राधा यादव को देखना चाहते थे जो युवा हैं. उद्देश्य उन्हें ऊपर भेजकर दबाव महसूस कराने का था. उन्हें इन दबाव भरे हालात से गुजरने की जरूरत थी क्योंकि स्मृति मंधाना, जेमिमा रोड्रिग्स और हरमनप्रीत ऐसा लंबे समय से कर रही हैं. हम विश्व कप से पहले कमियों को दूर करना चाहते थे.”
ऐसे में सवाल उठता है कि पाकिस्तान जैसे मैच में टीम को ऐसे प्रयोग करने की क्या जरूरत थी? इसके लिए टूर्नामेंट के दूसरे मैच भी आजमाए जा सकते थे. पाकिस्तान के खिलाफ मैच हमेशा ही प्रतिष्ठा का भी सवाल होता है और इस पर नजरें रहती हैं.
हरमनप्रीत ने माना- एक्सपेरिमेंट हुआ फेल
जाहिर तौर पर टीम का ये प्रयोग बुरी तरह फ्लॉप रहा और उसे 6 साल बाद टी20 मैच में पाकिस्तान से हार का सामना करना पड़ा. कप्तान हरमनप्रीत कौर ने माना कि उनका एक्सपेरिमेंट फेल रहा. कौर ने कहा, “हमने सोचा कि दूसरे बल्लेबाजों को मौका दिया जाये. यह फैसला उलटा पड़ गया और हमारी हार की वजह रहा. हम किसी टीम को हलके में नहीं लेते. यह खेल का हिस्सा है. उन्होंने अच्छा खेला और जीते. हमें अपनी गलतियों से सबक लेकर बेहतर प्रदर्शन करना होगा.”