कार के नीचे फंसी थी लड़की, मैं पीछा करता रहा… चश्मदीद ने बताई आंखोंदेखी

नई दिल्ली: दिल्ली के कंझावला में एक कार में 10-12 किलोमीटर लड़की के घसीटने की खबर ने राजधानी को दहलाकर रख दिया है। इस बीच इस घटना के चश्मदीद ने कहानी बताई है, वो और चौंकाने वाली है। चश्मदीद के मुताबिक, गाड़ी से टायर के फटने जैसी आवाज आ रही थी। उसके नीचे एक लाश थी। उन्होंने बताया कि ये पता नहीं चल रहा था कि लाश महिला की थी या पुरुष की क्योंकि उस वक्त अंधेरा था। चश्मदीद ने बताया कि उन्होंने तड़के 3 बजकर 20 मिनट पर दिल्ली पुलिस को फोन किया था। चश्मदीद ने बताया कि उसने स्कूटी से कार का पीछा करना शुरू कर दिया था। गौरतलब है कि इस हादसे के बाद मृतक के परिजनों ने दिल्ली पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन किया। उधर, राज्य के सीएम अरविंद केजरीवाल ने मामले में जल्द से जल्द न्याय की मांग की है।

घटना की कहनी, चश्मदीद की जुबानी
चश्मदीद ने बताया कि उन्होंने सुबह करीब 3 बजकर 18 मिनट पर बलेनो कार में डेड बॉडी देखी थी। उन्होंने बताया कि उस वक्त मैं चौक पर आया था और दुकान खोल ली थी। उसी वक्त मैंने पुलिस को कॉल की थी। तभी ऐसा लगा कि सामने से किसी गाड़ी का टायर फटा हो। गाड़ी से ऐसे आवाज आ रही थी जैसे टायर फटने के बाद आती है। उन्होंने बताया कि मैंने गाड़ी की तरफ गौर किया, तब मैंने गाड़ी में देखने की कोशिश की लेकिन उसमें कुछ दिख नहीं रहा था, मेरे दुकान के सामने आने के बाद मेरा उसपर फोकस गया। फिर दिखाई दिया कि इसके नीचे डेड बॉडी फंसी है। गाड़ी वैसे ही चलती जा रही थी। गाड़ी की स्पीड 20-25 की रही होगी। मैंने 112 नंबर डायल किया।

पुलिस को फोन कर बताया
चश्मदीद ने बताया कि मैंने फिर पुलिस को 112 नंबर पर फोन कर बताया कि एक ग्रे कलर की बलेनो कार में डेड बॉडी फंसी हुई है। मेरे फोन करने के 3-4 मिनट बाद ही पीसीआर से मेरे पास फोन आया। उन्होंने मुझसे गाड़ी की लोकेशन पूछा। उन्होंने पूछा कि गाड़ी कहां जा रही है? मैं अंधेरे के कारण कार का नंबर नहीं देख पाया था।

फिर दुकान के पास से गुजरी
चश्मदीद ने बताया कि इसके बाद 3 बजकर 30 मिनट पर मैंने देखी की वही गाड़ी फिर से आ रही है। गाड़ी एकबार फिर दुकान के पास से यू-टर्न लेकर फिर से मेरे दुकान के सामने से गुजरी। वो गाड़ी जब आ रही थी तो मैंने महसूस किया उससे वैसी ही आवाज आ रही थी, जैसा पहले मैंने सुनी थी। गाड़ी की एलईडी लाइट थी, सफेद वाली। फिर मैंने जिस पीसीआर को नंबर से फोन आया था, उसपर फोन किया। मैंने उन्हें बताया कि वही गाड़ी मेरे दुकान के पास से फिर गुजरी है और ये कंझावला साइड जा रही है। फिर मैंने अपनी स्कूटी लेकर उसका पीछा करना शुरू किया। 100 मीटर चलने के बाद गाड़ी ने यू-टर्न ले लिया।

NWC की बड़ी मांग
राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) ने घटना की पीड़िता के शव का पोस्टमार्टम कराने की मांग की। आयोग ने कहा कि कहीं पीड़िता का यौन उत्पीड़न तो नहीं किया गया था। उसने कहा कि मृतका की मां द्वारा लगाए गए आरोप यदि सही पाए जाते हैं तो संबंधित धाराओं के तहत प्राथमिकी भी दर्ज की जानी चाहिए। पुलिस के अनुसार, कंझावला में 20 वर्षीय एक युवती की स्कूटी को एक कार ने टक्कर मार दी और युवती को सुल्तानपुरी से कंझावला तक करीब 5 किलोमीटर घसीटते हुई ले गई। रविवार को हुई इस घटना में युवती की मौत हो गई। पुलिस ने इस मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। राष्ट्रीय महिला आयोग ने एक बयान में कहा कि युवती की मां ने आरोप लगाया है कि उन व्यक्तियों (कार में सवार लोगों ने) उसकी बेटी के साथ बलात्कार किया, जिसके कारण उसका शव निर्वस्त्र मिला। हालांकि पुलिस ने इस आरोप का खंडन किया है। आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने दिल्ली के पुलिस आयुक्त को पत्र लिखकर उनसे इस मामले में ‘निष्पक्ष और निश्चित समय सीमा में’ जांच कराने को भी कहा है। NCW ने यह भी कहा है कि आयोग को मृतका की मेडिकल रिपोर्ट के साथ ही इस मामले में की गयी कार्रवाई पर एक विस्तृत रिपोर्ट भी पेश की जाए।