राम मंदिर के गर्भगृह में विराजमान हुए रामलला, सामने आई पहली तस्वीर

अयोध्या: रामलला की मूर्ति पूजन के अनुष्ठान चल रहे हैं। गुरुवार को मूर्ति को गर्भगृह के आसन पर विराजमान कर दिया गया है। इसकी पहली तस्वीर सामने आ गई है। रामलला की श्याम रंग की मूर्ति 51 इंच की खड़ी मुद्रा में है, इसलिए सिंहासन पर विराजमान न करवा कर सीधे गर्भगृह मे निर्मित आसन पर विराजमान करवाया गया है। रामलला की मूर्ति के विविध अनुष्ठान 22 जनवरी तक चलते रहेंगे।वहीं, श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने ‘एक्स’ पर अपनी एक पोस्ट में कहा कि अयोध्या में जन्म भूमि स्थित राम मन्दिर में आज दिन में साढ़े 12 बजे के बाद राममूर्ति का प्रवेश हुआ। दोपहर एक बजकर 20 मिनट पर यजमान द्वारा प्रधानसंकल्प होने पर वेदमन्त्रों की ध्वनि से वातावरण मंगलमय हुआ। मूर्ति के जलाधिवास तक के कार्य गुरुवार को संपन्न हुए। 19 जनवरी को प्रातः नौ बजे अरणि मंथन से अग्नि प्रकट होगी। उसके पूर्व गणपति आदि स्थापित देवताओं का पूजन, द्वारपालों द्वारा सभी शाखाओं का वेदपारायण, देवप्रबोधन, औषधाधिवास, केसराधिवास, घृताधिवास, कुण्डपूजन, पञ्चभूसंस्कार होगा।इससे पहले बुधवार रात को रामलला की मूर्ति को ट्रक से मंदिर लाई गई। ट्रक रामपथ से होता हुआ हनुमानगढ़ी के रास्ते रामजन्मभूमि स्थित मंदिर पहुंचा। इसके बाद रामलला को मंदिर का भ्रमण कराया गया।