फर्जी बाबा ने मंत्र पढ़ छिड़का पानी, छिड़कते ही उल्टियां करने लगा एंबुलेंस का ड्राइवर

मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले में सोमवार को एक बाबा ने एक युवक पर मंत्र पढ़कर पानी फेंक दिया, जिसके बाद युवक को एकाएक उल्टियां शुरू हो गईं. उल्टियां बंद कराने के नाम पर बाबा ने युवक से पैसे वसूले, तब कहीं जाकर कुछ देर बाद युवक की उल्टियां बंद हुईं. अपने साथ हुई घटना के बारे में जब घबराए युवक ने मौके पर मौजूद लोगों को बताया तो लोगों ने बाबा को पकड़ लिया और उसकी जमकर फटकार लगाई. दोनों बाबाओं के असली रूप में आने के बाद उन्हें मौके से जाने दिया. दोनों बाबा अपने आप को नाथ बाबा बता रहे थे जो डबरा के तालबेहट के रहने वाले हैं. दोनों बाबा मजदूरी कार्ड धारी भी हैं.
जानकारी के अनुसार आज सुबह लुकवासा स्वास्थ्य केंद्र की एंबुलेंस के ड्राइवर सुनील यादव लुकवासा स्वास्थ्य केंद्र पर जा रहा था. इसी दौरान वह बाजार में रुक गया, जहां उसे एक बाबा मिला और पैसों की मांग करने लगा. इसी बीच बाबा ने अपने हाथ में पकड़े कमंडल में से पानी की कुछ बूंदें निकालकर सुनील यादव के ऊपर छिड़क दीं. सुनील यादव ने बताया कि बाबा ने जैसे ही उसके ऊपर बदबूदार पानी डाला इसके बाद उसे उल्टियां होने लगीं. बाबा ने उससे 200 रुपए की मांग करते हुए कहा कि अगर वह उसे दक्षिणा के तौर पर 200 रुपए दे देगा तो उसकी उल्टी होना बंद हो जाएगी.
सुनील ने बताया कि जैसे ही उसने 200 रुपए बाबा को दिए तो कुछ ही देर बाद उल्टियां होना बंद भी हो गईं. एंबुलेंस ड्राइवर सुनील यादव ने अपने साथ हुई घटना के बारे में मौजूद लोगों को बताया. इसके बाद वहां मौजूद लोगों ने बाबा को पकड़कर पूछताछ की. बाबा ने बताया कि वह और उसका एक साथी नाथ बाबा है. उन्हें अघोरी विद्या आती है. वह क्षेत्रों में घूम घूम कर भिक्षा मांगने का काम करते हैं.
भीड़ ने हड़काया तो सामने आया असली रूप
मौजूद भीड़ ने दोनों बाबाओं को पकड़कर जब सख्ती से पूछताछ की तो एक बाबा ने अपना नाम सुरेंद्र आदिवासी बताया और दूसरे बाबा ने अपना नाम छोटू आदिवासी बताया. दोनों बाबाओं के पास मिले आधार कार्ड पर भी यही नाम थे. लोगों ने बाबा के थैले की तलाशी ली तो दोनों बाबा मजदूरी कार्ड के धारक थे. दोनों बाबा डबरा जिले के तालबेहट के रहने वाले थे.
भीड़ इतनी आक्रोशित थी जैसे ही दोनों बाबाओं को अपने असली वेश में आने को कहा तो पलभर में दोनों बाबाओं ने अपने कमंडल और मालाओं को उतारकर अपने पिटारे में रख लिया. दोनों बाबाओं को क्षेत्र में न घूमने की नसीहत देते हुए जाने दिया गया. हालांकि जब तक मौके पर लुकवासा चौकी पुलिस पहुंची तब तक दोनों बाबा मौके से जा चुके थे. बाबाओं ने ड्राइवर पर क्या फेंका था इसका खुलासा नहीं हुआ है, लेकिन ड्राइवर का कहना है कि वो कुछ बदबूदार चीज थी.