शुरू होने से पहले ही खत्म हुआ इस तूफानी गेंदबाज का करियर? वर्ल्ड कप टीम में अब एंट्री भी मुश्किल

नई दिल्ली: आईपीएल 2022 में अपनी तूफानी गेंदबाजी से रातों-रात स्टार बने उमरान मलिक के तारे गर्दिश में चल रहे हैं। लंबे समय बाद उन्हें दोबारा भारतीय टीम में मौका जरूर मिला, लेकिन जम्मू-कश्मीर का यह खिलाड़ी प्रभावित नहीं कर पा रहा है। 150 किलो मीटर प्रति घंटा की रफ्तार से गेंदबाजी करके सुर्खियों में आए उमरान की लाइन-लैंथ सुधरने का नाम नहीं ले रही और पुरानी वाली गति भी नजर नहीं आ रही। कुल मिलाकर उमरान को खूब मेहनत की जरूरत है। उनकी मौजूदा हालत देखकर लगता नहीं कि बीसीसीआई अब उन्हें वर्ल्ड कप 2023 स्क्वॉड में शामिल करेगा क्योंकि लाइन में लगे कई अन्य क्रिकेटर्स लगातार प्रभावित करते जा रहे हैं।हाल ही में वेस्टइंडीज के खिलाफ हुई वनडे सीरीज में वह पूरी तरह बेरंग नजर आए। शुरुआती दो मैचों में उमरान एक भी विकेट हासिल नहीं कर पाए। तीसरे वनडे में तो कप्तान हार्दिक पंड्या ने उन्हें प्लेइंग 11 से ही बाहर कर दिया था। टी-20 सीरीज में भी उन्हें मौका मिलता कम ही नजर आ रहा है। अगर ऐसा ही चलता रहा तो भारत एक उभरता हुआ टैलेंट खो देगा। भारत के पूर्व ओपनर आकाश चोपड़ा की माने तो शार्दुल ठाकुर वर्ल्ड कप टीम में जगह बनाने की रेस में उमरान मलिक से आगे निकल गए हैं। भारत के लिए टेस्ट ओपनर रहे आकाश चोपड़ा के मुताबिक टीम में अभी भी चौथे तेज गेंदबाज की जगह खाली है, जिसके लिए उमरान मलिक को वेस्टइंडीज दौरे में शामिल किया गया था। हेड कोच राहुल द्रविड़ और कप्तान रोहित शर्मा उमरान की स्पीड को बतौर ट्रंप कार्ड इस्तेमाल करना चाह रहे थे, लेकिन अब लगता है कि शार्दुल ठाकुर ने इस पोजिशन पर अपनी दावेदारी पक्की कर ली है।वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज में शार्दुल ठाकुर ने तीनों मैच खेले और उनका प्रदर्शन भी अच्छा था। तीसरे वनडे में उन्होंने 6.3 ओवर में सिर्फ 37 रन देकर चार विकेट चटकाए थे। ये उनके वनडे करियर का बेस्ट बोलिंग फिगर भी था। इसके अलावा शार्दुल ठाकुर की गिनती पिछले कुछ साल में भारतीय टीम के लिए सबसे ज्यादा वनडे विकेट चटकाने वालों में रही है।