‘साथ में बैठा भाई जिंदा जल गया, नहीं बचा सका’ ट्रकों की भिड़त में शख्स की दर्दनाक मौत

मध्य प्रदेश के जबलपुर जिले के जबलपुर नागपुर नेशनल हाईवे पर दो ट्रकों में भीषण भिड़ंत हो गई. जिसने भी यह भयानक हादसा देखा, उसके रोंगटे खड़े हो गए. खड़े ट्रक में टक्कर इतनी जोरदार हुई कि टकराने के बाद ट्रकों में भयानक आग लग गई, जिसमें कंडक्टर और ड्राइवर अंदर ही फंस गए. घंटों की कड़ी मशक्कत के बाद जैसे तैसे ड्राइवर को बचा लिया गया, लेकिन ट्रक में फंसा कंडक्टर जिंदा जल गया. ये दर्दनाक हादसा जबलपुर जिले से 35 किलोमीटर दूर बरगी थाना क्षेत्र के बहोरीपर टोल नाका के पास सुबह 6 बजे हुआ.
हादसे में जिंदा जलकर मर गया कंडक्टर
हादसे की सूचना मिलते ही ईएमटी प्रदीप डेहरिया और पायलट शंकर सिंह के साथ एनएचआई की पूरी टीम और एनएचआई की एम्बुलेंस तत्काल मौके पर रवाना हुई. घटना स्थल पर देखा कि ड्राइवर और कंडक्टर अंदर फंसे हुए हैं. एनएचआई की टीम ने गंभीर अवस्था में चालक का रेस्क्यू कर ट्रक से बाहर निकाला और उसे इलाज के लिए जबलपुर मेडिकल अस्पताल रैफर किया. बाहर निकालने के बाद शादाब खान ने बताया कि वह यूपी बरेली का रहने वाला है और उसका भाई ट्रक में ही फंसा हुआ है. इसके बाद टीम जब तक कंडक्टर का रेस्क्यू करती, ट्रक में भयानक आग लग गई और कंडक्टर जिंदा जलकर मर गया.
भाई चिल्ला रहा था, लेकिन मैं उसे नहीं बचा सका- ड्राईवर
ट्रक चालक मोहम्मद शादाब ने बताया कि मैं और मेरा भाई अरमान खान दोनों ट्रक में मसाला लोड कर जबलपुर नागपुर हाईवे से होते हुए पटना जा रहे थे. जैसे ही हम निगरी के पास पहुंचे, रोड के किनारे एक ट्रक खड़ा हुआ था, जो पंचर था और रोड के किनारे उस ट्रक के ड्राइवर ने पत्थर रख दिए थे, जैसे ही मैंने ट्रक किनारे करना चाहा और मैं संतुलन खो बैठा और सामने खड़े ट्रक से हमारी भीषण भिड़ंत हो गई. भिड़ंत होने के बाद ट्रक में आग लग गई और वह दोनों गाड़ी के अंदर ही फंसे रहे. आग लगने के कारण मेरा भाई अरमान चिल्ला रहा था, लेकिन मैं उसे नहीं बचा सका.पुलिस ने कंडक्टर के शव को पीएम के लिए भेजते हुए जांच शुरू कर दी है.