केंद्र की भाजपा सरकार को लोकतंत्र में विश्वास नहीं : Gehlot

राजस्‍थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने केंद्र की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार पर निशाना साधते हुए बुधवार को आरोप लगाया कि उसे लोकतंत्र में विश्वास नहीं है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कांग्रेस वाले तिरंगे झंडे की रखवाली करने वाले लोग हैं।
गहलोत पार्टी के ‘संकल्‍प सत्‍याग्रह’ के तहत उदयपुर में कार्यकर्ता सम्‍मेलन को संबोधित कर रहे थे।
गहलोत ने कहा,‘‘ आप देख रहे हैं देश में क्‍या हो रहा है, मैं कई साल से कह रहा हूं … देश किस द‍िशा में जा रहा है कोई नहीं जानता, किस द‍िशा में जाएगा किसी को मालूम नहीं। इस तरह की सरकार दिल्‍ली में बैठी है जिसका लोकतंत्र में कोई विश्वास नहीं है। छापे पड़ते हैं ईडी (प्रवर्तन निदेशालय), इनकम टैक्स (आयकर विभाग), सीबीआई (केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो) के … धज्जियां उड़ रही हैं संविधान की, लोकतंत्र की।’’
कांग्रेस नेता ने आगे कहा,‘‘न्‍यायपालिका पर दबाव साफ दिखाई देता है … देख लिया राहुल गांधी के मामले में क्या फैसला आया।’’
केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा पर अंहकार के साथ शासन करने का आरोप लगाते हुए गहलोत ने कहा,‘‘ये लोग अहम घमंड रखके राज कर रहे हैं। इनको परवाह नहीं है कि विपक्ष क्‍या बोल रहा है, क्‍या चाहता है … क्योंकि हिंदू-हिंदू की बात करके ये लोग राज में (सत्ता में)आ गए लेकिन इनको हिंदू तभी याद आते हैं जब चुनाव होते हैं।’’
कार्यक्रम में मौजूद कार्यकर्ताओं द्वारा तिरंगा झंडा लहराए जाने का जिक्र करते हुए गहलोत ने कहा,‘‘ इस देश में हमको गर्व है कि हम तिरंगे झंडे की रखवाली करने वाले लोग हैं। इस झंडे के लिए त्याग, बलिदान, कुर्बानी दी है आजादी की जंग में।’’
उन्होंने कहा कि भाजपा व आरएसएस (राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ) से पूछना चाहिए कि आपकी पार्टी के लोगों ने आजादी की जंग में क्या एक उंगली भी कटवाई है जबकि हमारे लोग जेलों में बंद रहे लाठियां खाईं, गोलियां खाईं, फांसी के फंदे पर चढ़े।
कार्यक्रम को कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा व प्रदेश प्रभारी सुखजिंदर सिंह रंधावा ने भी संबोधित किया।