उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया के बीच बढ़ा तनाव, समुद्री सीमा पर एक दूसरे पर बरसाए गोले

सियोल: दक्षिण कोरिया और उत्तर कोरिया ने सोमवार को विवादित पश्चिमी समुद्री सीमा पर एक-दूसरे को चेतावनी देते हुए गोलीबारी की। उनकी सेनाओं ने यह जानकारी दी। यह गोलीबारी ऐसे समय में हुई है जब उत्तर कोरिया के हाल में हथियारों के परीक्षण को लेकर तनाव बढ़ गया है। दक्षिण कोरिया के ‘ज्वाइंट चीफ्स ऑफ स्टाफ’ ने एक बयान में कहा कि उसकी नौसेना ने उत्तर कोरिया के एक व्यापारी जहाज को रोकने के लिए चेतावनी स्वरूप गोलियां चलायी। उसने दावा किया कि उत्तर कोरियाई जहाज ने सोमवार तड़के उसकी समुद्री सीमा का उल्लंघन किया।

उत्तर कोरियाई सेना ने कहा कि उसने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए 10 गोले दागे। उसने दक्षिण कोरियाई नौसेना के जहाज पर एक अज्ञात जहाज पर कार्रवाई करने की आड़ में उसके समुद्री क्षेत्र में घुसपैठ करने का आरोप लगाया। दोनों कोरियाई सेनाओं के बीच झड़पों की कोई खबर नहीं है। गौरतलब है कि कोरियाई प्रायद्वीप पर खराब तरीके से चिह्नित समुद्री सीमा भी दोनों देशों के बीच लंबे समय से जारी शत्रुता का एक स्रोत हैं। इसके कारण कोरियाई देशों की नौसेनाओं के बीच कई बार हिंसक संघर्ष हुआ है।

दक्षिण कोरिया ने किया युद्धाभ्यासकोरियाई प्रायद्वीप में उत्तर कोरिया के मिसाइल प्रक्षेपण के बाद से लगातार तनाव है। लेकिन इस बीच पिछले सप्ताह से दक्षिण कोरिया ने सैन्य अभ्यास किया है। वार्षिक सैन्याभ्यास से उत्तर कोरिया की ओर से परमाणु हथियारों के इस्तेमाल का खतरा बढ़ा है। शुक्रवार को उत्तर कोरिया ने सीमा के पास आर्टिलरी ड्रिल का अभ्यास किया और सैन्य जेट उड़ाए। बुधवार को उत्तर कोरिया ने लंबी दूरी की क्रूज मिसाइल का प्रक्षेपण किया।

दुश्मन के लिए चेतावनीउत्तर कोरिया के सरकारी टेलीविजन ने मिसाइल लॉन्च को दुश्मन के लिए एक स्पष्ट चेतावनी बताया। इसके साथ ही इसी महीने जापान के ऊपर से दागे गए एक बैलेस्टिक मिसाइल का जिक्र किया गया। स्टेट मीडिया ने बताया कि उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन परमाणु युद्ध की स्थिति में रैपिड रिएक्शन को जांचना चाह रहे थे।