पाकिस्तान का हिसाब बांग्लादेश से चुकता, टीम इंडिया की इस बात से खुश कप्तान

महिला एशिया कप में लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रही भारतीय टीम को पाकिस्तान के खिलाफ हार ने जोर का झटका दिया. एशिया की सबसे मजबूत टीम भारत की इस हार ने हर किसी को चौंका दिया था. जाहिर तौर पर भारतीय टीम में भी इससे निराशा और हैरानी थी और ऐसे में एक दमदार वापसी की जरूरत थी. स्मृति मांधना की कप्तानी में भारतीय टीम ने मेजबान बांग्लादेश के खिलाफ आक्रामक अंदाज में जीत की लय फिर से हासिल की और कार्यवाहक कप्तान मांधना इससे काफी खुश नजर आईं.
‘टीम ने किया संपूर्ण प्रदर्शन’
नियमित कप्तान हरमनप्रीत कौर की गैरहाजिरी में मांधना ने इस मैच में भारत की कमान संभाली थी. उन्होंने खुद भी 47 रनों की बेहतरीन पारी खेली और टीम का नेतृत्व करते हुए 24 घंटों के अंदर हार की हताशा को भुलाकर 59 रनों से बड़ी जीत दर्ज की. इस तरह भारत पांच में से चार मैच जीत चुका है और उसने इस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में अपनी जगह सुरक्षित कर ली है.
सिलहट में शनिवार 8 अक्टूबर को हुए इस मैच में मौजूदा एशियन चैंपियन और मेजबान बांग्लादेश पर मिली इस हौसला बढ़ाने वाली जीत के बाद कप्तान मांधना ने कहा, पिछला मैच (पाकिस्तान के खिलाफ) निराशाजनक रहा. उस हार के बाद वापसी अच्छी रही. वास्तव में मुझे लड़कियों पर गर्व है. आज टीम ने संपूर्ण प्रदर्शन किया.
गेंदबाजों के कमाल से खुश कप्तान
मांधना के अलावा युवा ओपनर शेफाली वर्मा ने अच्छा अर्धशतक जमाया. दोनों ने 96 रनों की साझेदारी भी की. शेफाली ने साथ ही 2 विकेट भी लिए. वहीं जेमिमा रॉड्रिग्ज ने तेजी से 35 रन कूटे. इन दोनों की तारीफ में मांधना ने कहा, शेफाली ने शानदार बल्लेबाजी की और जेमिमा ने भी अच्छा खेल दिखाया. हम बल्लेबाजी करते हुए 10 रन अधिक बना सकते थे. हमने लगातार खाली गेंदे की और हम उनके बल्लेबाजों से गलतियों का इंतजार कर रहे थे और उन्होंने गलतियां की. हमारे गेंदबाजों ने वास्तव में बहुत अच्छी गेंदबाजी की.
बैटिंग के लिए मुश्किल थी पिच
वहीं 55 रन बनाने वाली और 10 रन देकर 2 विकेट लेने वाली शेफाली को इस ऑलराउंड प्रदर्शन के लिए प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया. शेफाली ने कहा,मैं हमेशा बल्लेबाजी और गेंदबाजी में अपना सर्वश्रेष्ठ देने के लिए तैयार रहती हूं. यह बल्लेबाजी के लिए थोड़ी मुश्किल पिच थी क्योंकि गेंद नीचे रह रही थी. मैंने कड़ी मेहनत की और मैं समर्थन के लिए अपने परिजनों और दोस्तों का आभार व्यक्त करती हूं.