टाटा का मार्केट कैप ₹30 लाख करोड़ के पार, दूर-दूर तक टक्कर में नहीं हैं अंबानी-अडानी

नई दिल्ली: देश की दिग्गज कारोबारी घराने टाटा ग्रुप का मार्केट कैप 30 लाख करोड़ रुपये के पार पहुंच गया है। पहली बार देश का कोई कारोबारी घराना इस मुकाम पर पहुंचा है। टाटा ग्रुप का मार्केट कैप 30.4 लाख करोड़ रुपये पहुंच चुका है। दूर-दूर तक कोई इसके आसपास भी नहीं है। मुकेश अंबानी की अगुवाई वाले रिलायंस ग्रुप का मार्केट कैप 21.6 लाख करोड़ रुपये है। गौतम अडानी के अडानी ग्रुप का मार्केट कैप 15.6 लाख करोड़ रुपये है। इस लिस्ट में चौथे नंबर पर एचडीएफसी ग्रुप है। इस ग्रुप का मार्केट कैप 13 लाख करोड़ रुपये है। बजाज ग्रुप भी 10 लाख करोड़ रुपये के मार्केट कैप के साथ देश के टॉप पांच कारोबारी घरानों में शामिल हैं। टाटा ग्रुप की 25 लिस्टेड कंपनियां हैं। मार्केट के कुल मार्केट कैप में 80 फीसदी से अधिक हिस्सेदारी केवल पांच कंपनियों की है। ग्रुप की सबसे वैल्यूएबल कंपनी टीसीएस है जिसका मार्केट कैप 15.1 लाख करोड़ रुपये है। यह रिलायंस इंडस्ट्रीज के बाद देश की दूसरी सबसे वैल्यूएबल कंपनी है।टाटा ग्रुप में टीसीएस के बाद टाटा मोटर्स दूसरी सबसे वैल्यूएबल कंपनी है। इसका मार्केट कैप 3.4 लाख करोड़ रुपये है। यह देश की सबसे वैल्यूएबल ऑटो कंपनी है। टाटा ग्रुप में मार्केट कैप के हिसाब से टाइटन तीसरे नंबर पर है। इसका मार्केट कैप 3.2 लाख करोड़ रुपये है। टाटा स्टील 1.8 लाख करोड़ रुपये के साथ चौथे और टाटा पावर 1.3 लाख करोड़ रुपये के साथ पांचवें नंबर पर है। इस साल ग्रुप की आईटी कंपनी टीसीएस के मार्केट कैप में 1.2 लाख करोड़ रुपये की तेजी आई है। इस साल ग्रुप के वैल्यूएशन में आई तेजी में टीसीएस का 60% योगदान है। इसी तरह टाटा मोटर्स के शेयरों में इस साल 19% तेजी आई है और वह टाइटन को पछाड़कर टाटा ग्रुप की दूसरी सबसे मूल्यवान कंपनी बन गई है। दुनिया की सबसे वैल्यूएबल कंपनीटाटा ग्रुप भले ही देश का सबसे बड़ा औद्योगिक घराना है लेकिन दुनिया की सबसे मूल्यवान कंपनी माइक्रोसॉफ्ट की तुलना में यह बहुत पीछे है। टाटा ग्रुप की कंपनियों का मार्केट कैप माइक्रोसॉफ्ट का केवल 12 परसेंट है। माइक्रोसॉफ्ट का मार्केट कैप 3.1 ट्रिलियन डॉलर है। आईफोन बनाने वाली कंपनी ऐपल का मार्केट कैप 2.9 ट्रिलियन डॉलर है। सऊदी अरामको का मार्केट कैप दो ट्रिलियन डॉलर और गूगल की पेरेंट कंपनी अल्फाबेट का 1.8 ट्रिलियन डॉलर है। टाटा ग्रुप का मार्केट कैप 0.36 ट्रिलियन डॉलर है जबकि टीसीएस का मार्केट कैप 0.18 ट्रिलियन डॉलर है।