तालिबान नहीं संभाल पा रहा अपना घर, कैबिनेट मीटिंग में लड़ाई, मंत्री का हाथ टूटा

काबुल: अफगानिस्तान में तालिबान भले ही सत्ता में आ गया है, लेकिन ये अपना घर संभालने में भी समर्थ नहीं दिख रहे हैं। तालिबान के दो नेताओं के बीच हाथापाई की खबर सामने आई है। रिपोर्ट्स के मुताबिक शेख नेदा और स्वतंत्र परीक्षा बोर्ड के अध्यक्ष शेख बाकी हक्कानी के बीच मारपीट देखी गई है। परीक्षा पत्रों की मार्किंग को लेकर यह विवाद सामने आया है। इस विवाद में शेख नेदा का हाथ टूट गया है। स्थानीय पत्रकार बिलाल सरवारी ने एक ट्वीट में कहा कि हाथापाई कैबिनेट लेवन की मीटिंग में आम बात हो गई है।उन्होंने ट्वीट में लिखा, ‘तालिबान के उच्च शिक्षा मंत्री शेख नेदा और स्वतंत्र परीक्षा बोर्ड के चेयरमैन शेख बाकी हक्कानी के बीच बोर्ड के परीक्षा पत्रों के मार्किंग को लेकर विवाद हुआ। इसमें शेख नेदा का हाथ टूट गया।’ दो दशक बाद तालिबान अफगानिस्तान की सत्ता में आया है। सत्ता में आने के बाद से ही तालिबान के सामने कई मुश्किलें हैं। दोनों नेताओं के बीच हाथापाई यह साफ दिखाती है कि तालिबानी नेताओं में आम सहमति और समन्वय की कमी है।तालिबान के पास हिंसा ही रास्ताइस घटना से साफ पता चलता है कि तालिबान सरकार अभी एक सुसंगत शासन संरचना नहीं बना पाया है, जिसके परिणामस्वरूप इस तरह के झगड़े देखने को मिलते हैं। तालिबान अपनी क्रूर रणनीति के लिए जाने जाते हैं और यह घटना साफ दिखाती है कि उनके पास विवादों को हल करने के लिए हिंसा ही एकमात्र रास्ता है। इसके अलावा तालिबान की शिक्षा के प्रति प्रतिबद्धता और शिक्षा प्रणाली को प्रभावी ढंग से प्रबंधित करने की क्षमता के बारे में भी सवाल उठता है।तालिबान के अंदर भी संघर्षसत्ता में आने के बाद से तालिबान की ओर से महिलाओं के प्रति व्यवहार और उनकी शिक्षा को खत्म करने के लिए आलोचना की जाती रही है। यह संघर्ष तालिबान की सरकार में विभिन्न गुटों को मैनेज करने में आने वाली मुश्किलों को भी दिखाता है। स्वतंत्र परीक्षा बोर्ड के अध्यक्ष हक्कानी नेटवर्क के सदस्य हैं और उच्च शिक्षा मंत्री के साथ विवाद में पड़ना दिखता है कि तालिबान के अंदर भी संघर्ष हो रहा है।