होली पर स्विगी के अंडे वाले विज्ञापन पर बवाल, लिया हटाने का फैसला, जानें पूरा मामला

नई दिल्ली : स्विगी (Swiggy) ने होली के लिए अंडे के विज्ञापन वाले बिलबोर्ड को लोगों के एक वर्ग द्वारा सोशल मीडिया पर ‘आपत्ति’ जताने के बाद हटा दिया है। विज्ञापन में बोर्ड पर कुछ रंगों के साथ अंडों की फोटो है। साथ ही तीन बातें लिखी हुई हैं। इनमें ऑमलेट और सनी साइड अप के आगे सही का निशान है। वहीं, ‘किसी के सर पर’ के आगे गलत का निशान है। इसके नीचे लिखा है- #बुरा मत खेलो, इंस्टामार्ट से होली के लिए जरूरी सामान प्राप्त करें। इस मामले पर स्विगी की ओर से कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है। हालांकि, एक सूत्र ने कहा कि विज्ञापन बैनर केवल दिल्ली-एनसीआर में लगे थे और अब हटा दिए गए हैं।सोशल मीडिया पर लोगों ने जताया विरोधविज्ञापन लगाए जाने के तुरंत बाद कई लोगों ने हैशटैग ‘हिंदूफोबिक स्विगी’ के साथ ट्वीट किया था। ट्वीट में लोगों ने फूड डिलीवरी कंपनी (स्विगी) का बहिष्कार करने का आग्रह किया। लोगों ने स्विगी का बॉयकॉट करने को कहा। इस्कॉन के उपाध्यक्ष राधारमण दास ने अपने ट्वीट में कहा, ‘स्विगी ने होली पर हिंदुओं को ज्ञान देने के लिए अभियान शुरू किया है। इस कंपनी ने कुछ शाकाहारी लोगों को मांसाहारी आइटम भेजे थे। जबकि उन लोगों ने वेज आइटम ऑर्डर किये थे।’माफी मांगे स्विगीशिवसेना के पूर्व नेता रमेश सोलंकी ने भी स्विगी के इस विज्ञापन का विरोध किया। सोलंकी ने ट्वीट कर लिखा, ‘स्विगी का बिलबोर्ड लाखों लोगों द्वारा मनाए जाने वाले त्योहार होली के प्रति अपमानजनक है। दूसरे गैर-हिंदू त्योहारों पर ऐसी सलाह क्यों नहीं दी जाती? स्विगी को इस गलती के लिए माफी मांगनी चाहिए।’हटा लिए होर्डिंग्स सोशल मीडिया पर जताए जा रहे विरोध के बाद स्विगी ने होली के ये होर्डिंग्स हटाने का फैसला लिया है। विवाद बढ़ने पर कई यूजर्स ने स्विगी के ऐप को अन-इंस्टॉल कर दिया था। सोशल मीडिया पर यूजर्स कह रहे हैं कि होली को बदनाम करने का स्विगी का प्रयास अस्वीकार्य है।