कनाडा के रेलवे स्टेशन पर नमाज पढ़ने से रोका तो सुरक्षाकर्मी पर हुआ ऐक्शन! छिन गई नौकरी

ओटावा: कनाडा की एक घटना पर इस समय काफी चर्चा हो रही है। यहां पर एक रेलवे स्‍टेशन पर सिक्‍योरिटी गार्ड ने एक मुसलमान शख्‍स को नमाज पढ़ने से रोक दिया। इस गार्ड को अब उसकी नौकरी से हटा दिया गया है। जिस यात्री के साथ यह घटना हुई है उसका नाम अहमद बताया जा रहा है। अहमद ने ओटावा के सीटीवी न्‍यूज को बताया कि सुरक्षा गार्ड उसके पास आया और उसने कहा, ‘आप यहां पर नमाज मत पढ़‍िए।’ यह सुरक्षा गार्ड कनाडा की वाया रेल के साथ काम करता था। अहमद की नमाज पूरी हो चुकी थी जब उन्‍हें ऐसा करने से रोका गया। सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो अहमद ने बताया, ‘सुरक्षा गार्ड को यह कहते हुए सुना जा सकता कि यहां पर प्रार्थना मत करो। हम नहीं चाहते कि तुम लोग यहां पर नमाज पढ़ो। तुम्‍हारी वजह से हमारे बाकी के ग्राहक परेशान हो रहे हैं। अगली बार से बाहर प्रार्थना करना।’ यह घटना पिछले हफ्ते हुई है और अहमद ने गुरुवार को इस बारे में मीडिया से बात की। पास से गुजरने वाले एक शख्‍स ने भी इस पूरे मामले का वीडियो बनाया। थोड़ी ही देर बाद यह वीडियो वायरल हो गया। इसके वायरल होते ही सोशल मीडिया पर लोग अलग-अलग तरह से नाराजगी जताने लगे। जो कुछ भी अहमद ने बताया उसकी पुष्टि इस वीडियो में होती है।घटना की जांच की मांग वाया रेल और नेशनल काउंसिल ऑफ कनैडियन मुस्लिम की तरफ से इस घटना पर बयान दिया गया है। बयान के मुताबिक यह घटना काफी दुखद और निंदनीय है। यह संगठन मुसलमानों के हक के लिए लड़ता है। संगठन ने मांग की है कि इस घटना की सही तरह से जांच होनी चाहिए। बयान में कहा गया है कि इस पूरी घटना के बाद अहमद के साथ बातचीत जारी है जिन्‍हें ओटावा स्‍टेशन में प्रार्थना करने से रोका गया था। अहमद का कहना है कि इस घटना ने उन्‍हें काफी शर्मिंदा कर दिया है। साथ ही वह काफी परेशान भी हैं। उन्‍हें यह यकीन नहीं हो पा रहा है कि यह सबकुछ कनाडा की राजधानी ओटावा में हो रहा है। अहमद से मांगी वाया रेल ने माफी दूसरी ओर वाया रेल की तरफ से भी अहमद से माफी मांगी गई है। वाया रेल का कहना है कि इस पूरी घटना की जांच होगी। साथ ही उसने मुसलमान समुदाय के लिए सुरक्षा भी सुनिश्चित करने की बात कही है। वाया रेल का कहना है कि जांच के बाद जो भी नतीजे आएंगे उसके तहत ही दोषी सिक्‍योरिटी गार्ड के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। वाया रेल ने इस्‍लामोफोबिया की कड़ी निंदा की है और साथ ही कहा है कि किसी भी तरह का भेदभाव वाला व्‍यवहार स्‍वीकार नहीं किया जाएगा। हाल के कुछ वर्षों में कनाडा में मुसलमानों के खिलाफ हेट क्राइम्‍स में तेजी से इजाफा हुआ है।