सादगी की मिसाल… बेटा रिंकू सिंह मैदान पर मचा रहा तहलका, पिता अभी भी कर रहे सिलेंडर की डिलीवरी

नई दिल्ली: पिछले साल अपना भारत डेब्यू करने के बाद से ने क्रिकेट जगत में तहलका मचाकर रखा है। आईपीएल में कोलकाता नाइट राइडर्स के साथ एक शानदार सीजन के बाद, रिंकू को पिछले साल भारत के लिए डेब्यू करने का मौका मिला था। टी20 में भारत के लिए 15 मैचों की 11 पारियों में, रिंकू ने 89 के औसत और 176 से अधिक की स्ट्राइक रेट के साथ 356 रन बनाए हैं, जिसमें दो अर्धशतक शामिल हैं।रिंकू का बचपन काफी गरीबी में बिता था। उनके पिता सिलेंडर की डिलिवरी करते थे। वह अभी भी डिलीवरी करते हैं। हाल ही में एक वायरल वीडियो में खानचंद सिंह को उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में एलपीजी सिलेंडर पहुंचाते हुए दिखाया गया है, जिसके बाद रिंकू एक बार फिर चर्चा में आ गए हैं।वीडियो में, खानचंद को एक छोटे ट्रक में एलपीजी सिलेंडर लोड करते हुए देखा जा सकता है। यह तब सामने आया है जब रिंकू ने खुलासा किया कि क्रिकेट में उनकी सफलता के बावजूद उनके पिताजी ने अपनी नौकरी छोड़ने से इनकार कर दिया था।रिंकू ने कुछ समय पहले एक इंटरव्यू में कहा था, ‘मैंने अपने पिताजी से अब आराम करने के लिए कहा था क्योंकि हमारे पास इतना है कि उन्हें सिलेंडर नहीं खींचना पड़े, लेकिन वह अब भी करते हैं और अपनी नौकरी से प्यार करते हैं। अगर किसी ने जिंदगी भर काम किया है तो उसे रोकना मुश्किल है जब तक कि वह खुद न चाहे।’अलीगढ़ में जन्मे रिंकू को आईपीएल 2024 से पहले 55 लाख रुपये में केकेआर ने रिटेन किया है। उन्हें पहली बार केकेआर ने 2018 में 80 लाख रुपये में खरीदा था। भले ही पहला सीजन शानदार नहीं रहा, लेकिन उनकी क्षमता को बरकरार रखा गया और उन्हें आईपीएल 2019 के लिए भी बरकरार रखा गया।