हाथ में भगवा, जय श्री राम के नारे… नूपुर शर्मा जब राम मंदिर प्राण प्रतिष्‍ठा से जुड़ी यात्रा में दिखाई दीं!

नई दिल्‍ली: भारतीय जनता पार्टी (BJP) की पूर्व प्रवक्‍ता रविवार को काफी लंबे समय बाद पब्लिक में दिखाई दीं। जय श्री राम के नारों के बीच उन्‍हें हाथ में भगवा झंडा थामे देखा गया। उनके साथ लोगों की भारी भीड़ थी। नूपुर शर्मा ने इस दौरान हरे रंग की साड़ी के ऊपर लॉन्‍ग ओवरकोट पहन रखा था। वह दिल्‍ली में एक हिंदू संगठन की ओर से निकाली गई यात्रा में शिरकत करने पहुंची थीं। अयोध्‍या में 22 जनवरी को समारोह से पहले देशभर में तमाम हिंदूवादी संगठन यात्राएं निकाल रहे हैं। नूपुर शर्मा जिस यात्रा में पहुंची थी, वह भी उन्‍हीं में से एक थी। नूपुर शर्मा को बीजेपी निष्‍कासित कर चुकी है। राजधानी में रविवार को रामलला की प्राण प्रतिष्‍ठा से जुड़ी इस जन-जागरण यात्रा में कड़ी सुरक्षा था। जय श्री राम के नारों के बीच नूपुर ने यात्रा का नेतृत्‍व किया। वैसे यह पहला मौका नहीं है जब नूपुर शर्मा सार्वजनिक कार्यक्रम में नजर आईं। पैगंबर विवाद के बाद अंडरग्राउंड हुईं नूपुर शर्मा पिछले साल सितंबर में पहली बार सामने आई थीं। तब वह विवेक अग्निहोत्री की फिल्‍म ‘द वैक्‍सीन वॉर’ को प्रमोट करने के लिए आयोजित एक इवेंट में शामिल हुई थीं। फिर उन्‍हें मोतीनगर में गणेश विसर्जन पर आयोजित एक सार्वजनिक कार्यक्रम में देखा गया। इस दौरान उन्‍होंने लोगों से बात करते हुए देश सेवा में आगे बढ़कर जिम्‍मेदारी निभाने की बात कही थी। वह उज्जैन के महाकाल मंदिर में दर्शन करते हुए भी दिखी थीं। 2022 में एक टीवी डिबेट के दौरान नूपुर शर्मा ने पैगंबर मोहम्‍मद पर विवादित टिप्‍पणी की थी। उनके खिलाफ भारत सहित दुनिया के कई इस्‍लामिक देशों में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हुए थे। नूपुर शर्मा को जान से मारने की भी धमकी दी जाने लगी। उनके विवादित बयान के बाद राजस्‍थान में एक हत्‍या हो गई थी। इसके बाद नूपुर की सुरक्षा को लेकर चिंता और बढ़ गई थी। फिर उन्‍हें दिल्‍ली पुलिस ने विशेष सुरक्षा दी थी। यही नहीं, पैगंबर विवाद के बाद उन्‍होंने अपने वकालत के पेशे और राजनीतिक कार्यक्रमों से पूरी तरह दूरी बना ली थी।