ननद ने चेहरे पर फेंका गोबर, बेइज्जती बर्दाश्त नहीं कर सकी भाभी; ट्रेन से कटकर दी जान

घर-परिवार में आपसी झड़गे होना आम बात है. मध्य प्रदेश के ग्वालियर में ननद और भाभी के बीच ऐसा झगड़ा हुआ कि एक ने ट्रेन में कटकर जान दे दी. यह मामला ग्वालियर के अकबरपुर गांव का है. ननद और भाभी में गोबर को लेकर विवाद हुआ. इसके बाद नाराज भाभी, जिसका नाम सविता भदौरिया ने ट्रेन में कटकर आत्महत्या कर ली. इस पूरे मामले की जांच में पुलिस ने चौंकने वाली वजह बताई है. पुलिस के अनुसार सविता भदौरिया ने आत्म सम्मान में आकर ट्रेन के सामने कटकर अपनी जान दे दी. पुलिस ने यह मामला एक महीने के बाद सुलझाया है. पुलिस के लिए ट्रेन से कटकर की गई आत्महत्या का मामला बेहद गंभीर बना हुआ था.
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ग्वालियर जिले के अकबरपुर गांव का यह मामला पिछले महीने 11 नवंबर का है. पुलिस की जांच में भाभी के आत्महत्या करने की वजह अब सामने आई है. ननद और भाभी के बीच हुई लड़ाई के बाद पुरानी छावनी पुलिस ने केस दर्ज कर लिया था. मामले की जांच की कार्रवाई भी शुरू कर दी थी.
ननद और भाभी में लड़ाई की वजह गोबर
पुलिस ने मामले की जांच के बाद लड़ाई की वजह गोबर बताई है. पुलिस के अनुसार 11 नवंबर को हुए विवाद में पड़ोस में रहने वाली ननद ने सवित भदौरिया (भाभी) के साथ मारपीट की थी. दोनों के बीच झड़गा बढ़ता देख ननद ने भाभी के चेहरे पर गोबर फेंक दिया था. इसी घटना से नाराज होकर भाभी ने ट्रेन के सामने जाकर आत्महत्या कर ली.
एक महीने बाद पता चली आत्महत्या की वजह
पुलिस को एक महीने बाद आत्महत्या के पीछे की वजह पता चली है. मामला दर्ज होने के बाद से पुलिस ने जांच की कार्रवाई शुरू कर दी थी. पुलिस को 11 नवंबर की देर रात खबर मिली थी कि जिले के अकबरपुर गांव के पास एक महिला की ट्रेन से कटकर मौत हो गई. मृतका के शिनाख्त के बाद पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू कर दी थी. पुलिस की जांच में पता चला कि मृतका का नाम सविता भदौरिया था. वह 52 साल की थी.
पुरानी छावनी थाना प्रभारी आसिफ बेग ने मामले की जानकारी देते हुए कहा कि 11 नवंबर की सुबह सविता और पड़ोस की ननद के बीच गोबर फेंकने को लेकर झगड़ा हुआ. यह झगड़ा इतना बढ़ गया कि ननद ने सविता भदौरिया के चेहरे पर गोबर फेंक दिया. इससे वह आहत होकर ट्रेन से कटकर आत्महत्या कर ली. पुलिस ने ननद के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया और इस पर भी जांच आगे बढ़ा दी है.