Sidhu Moose Wala के पिता को राजस्थान से ईमेल के जरिए मिली धमकी, मामला दर्ज

पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला के पिता बलकौर सिंह को एक बार फिर धमकी भरा ईमेल मिला है। मानसा में सिद्धू के पिता बलकौर सिंह को धमकी भरा ईमेल भेजा गया है। इस ईमेल में लिखा है कि बलकौर तुझे भी जल्दी मार दिया जाएगा। लॉरेंस बिश्नोई का नाम मत ले। इस ईमेल को मिलने के बाद सिद्धू मूसेवाला के पिता बलकौर सिंह ने मानसा पुलिस थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस ने शिकायत मिलने के बाद मामले की जांच शुरू कर दी है। सिद्धू मूसेवाला के पिता बलकौर सिंह को कई बार धमकियां मिलती रही है। उन्हें इंस्टाग्राम पर भी कई धमकियां मिली है। उन्हें बार बार लॉरेंस बिश्नोई का नाम लेने से रोका जा रहा है। पुलिस का कहना है कि मामले की जांच शुरू हो गई है। अब आरोपियों को जांच के बाद पकड़ा जाएगा। इससे पहले पिछले साल सितंबर में राजस्थान से भी बलकौर सिंह को धमकी भरा ईमेल भेजा जा चुका है। ईमेल भेजने वाले 14 वर्षीय नाबालिग आरोपी को पुलिस ने जोधपुर से हिरासत में लिया था। नाबालिग के पास से मोबाइल भी बरामद हुआ था। वहीं पांच मार्च 2023 को भी ईमेल के जरिए बलकौर सिंह को जान से मारने की धमकी मिल चुकी है।  हाल ही में हुआ था समागमसिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद उनकी याद में 19 मार्च को समागम का आयोजन किया गया। इस आयोजन में सिद्धू मूसेवाला की याद में उनके हजारों फैंस जमा हुए थे। सिद्धू के पैतृक गांव मनसा में इस दौरान भारी भीड़ देखने को मिली जहां इसका आयोजन किया गया था। इन दिनों पंजाब में जारी उठा पटक के बीच इस समागम के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे। किसी तरह की अनहोनी को होने से रोकने के लिए ये फैसला किया गया था। इस दौरान सिद्धू मूसेवाला के पिता बलकौर सिंह ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जमकर तारीफ करते दिखे थे। उन्होंने कहा कि अगर योगी पंजाब के मुख्यमंत्री होते तो उनके बेटे की हत्‍या नहीं होती। गौतरलब है कि सिद्धू मूसेवाला की हत्या को 10 महीने का समय बीत चुका है मगर अब तक उनका परिवार इंसाफ के लिए आस लगाए बैठा है। गोलियों से भूनकर हुई थी मूसेवाला की हत्याबता दें कि बीते वर्ष 19 मार्च को ही सिद्धू मूसेवाला की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई थी। पंजाब के मनसा जिले में उनकी हत्या हुई थी। इस मामले में पंजाब पुलिस ने अब तक 29 लोगों को गिरफ्तार किया है। इसमें पांच ऐसे आरोपी हैं जो विदेश में छिपे बैठे है।